इतिहास अफीम नहीं, वर्तमान टॉनिक है-3

कनक तिवारी साहित्यिक पत्रिकाओं ने अपनी उद्यमी रचनाशीलता के सहारे संस्कृति के अतिरिक्त देश की राजनीति का भी इतिहास गढ़ा

Read more

इतिहास अफीम नहीं, वर्तमान टॉनिक है-2

कनक तिवारी गुरु घासीदास ने सतनाम क्या कहा, छत्तीसगढ़ की आत्मा शुद्ध कर दी.

Read more

कानन, रणांगन, मुक्तांगन

कनक तिवारी सुकमा के पास चिंतागुफा क्षेत्र में अंगरेजी अंधविश्वासी तेरह तारीख को तेरह सुरक्षाकर्मियों की हत्या नक्सलियों ने की.

Read more

इतिहास अफीम नहीं, वर्तमान टॉनिक है

कनक तिवारी चौदह वर्ष के अस्तित्व के बाद छत्तीसगढ़ में जयपुर लिटरेरी फेस्टिवल की तर्ज़ पर एक साहित्यिक सांस्कृतिक आयोजन

Read more
error: Content is protected !!