माओवादी हमले में 12 जवान शहीद

सुकमा | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के सुकमा में माओवादियों के हमले में सीआरपीएफ के 12 जवान मारे गये हैं. पुलिस का कहना है कि शनिवार की सुबह 8:45 बजे के आसपास सीआरपीएफ की 219वीं बटालियन के लगभग एक सौ जवान रोड ओपनिंग के लिये भेज्जी थाना इलाके में निकले हुये थे, जहां पहले से एंबुश लगाये माओवादियों ने आईईडी ब्लास्ट किया.

इसके बाद माओवादियों ने जवानों को घेर कर गोलियां बरसाईं. हमला इतना जोरदार था कि जवान कुछ भी समझ नहीं पाये और मौके पर ही 11 जवानों की मौत हो गई. 1 जवान की मौत बाद में अस्पताल में हुई है. कुल 12 जवान शहीद हुये हैं.


सुकमा के एसपी का कहना है कि इस हमले में पांच जवान गंभीर रुप से घायल हुये हैं, जिन्हें इलाज के लिये रायपुर रवाना किया गया है.

इस साल की सबसे बड़ी इस माओवादी हमले की घटना के बाद रायपुर स्थित पुलिस मुख्यालय में आपात बैठक बुलाई गई है, जिसमें राज्य के आला अधिकारी उपस्थित हैं.

राज्य के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने इसे कायराना करतूत करार देते हुये कहा है कि नक्सलियों के पैर उखड़ रहे हैं, लिहाजा नक्सली ऐसी वारदात को अंजाम दे रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि फिलहाल इलाके में सर्चिंग चल रही है और हमारे जवान नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब देंगे.

पुलिस सूत्रों का कहना है कि 8 मार्च को महिला दिवस पर माओवादियों ने बस्तर के कई इलाकों में आयोजन किया था और भेज्जी के इलाके में भी इसी तरह के आयोजन की खबर थी. सुरक्षाबल के जवान मान कर चल रहे थे कि यह स्थानीय संघम से जुड़े लोगों का आयोजन होगा. इसी संभावना के आधार पर टीम रवाना हुई थी, जिसके बाद जवान माओवादियों के एंबुश में फंस गये.

शहीद जवानों के नाम इस प्रकार से है- जगजीत सिंह, हीरा बल्लभ भट्ट, नरेन्द्र कुमार सिंह, जगदीश प्रसाद बिशनोई, प्रेमदास रामदास मेंधे, मंगेश बाल पांडे, रामपाल सिंह यादव, गोरखनाथ, नंद कुमार अतराम, सतीश चंद्र वर्मा, आके शंकर, सुरेश कुमार.

घायल जवान- जयदेव प्रमाणिक, सलीम जगल.

नक्सलियों से मुठभेड़ में 11 जवान शहीद हुये थे तथा 3 जवान घायल हुये थे. घायल जवानों को रायपुर के नारायणा अस्पताल में भर्ती कराया गया है. 1 गंभीर रूप से घायल जवान की अस्पताल में मौत हो गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!