छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार

नई दिल्ली | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में अगली सरकार कांग्रेस की हो सकती है. हालांकि मुख्यमंत्री के तौर पर भाजपा के रमन सिंह सबसे बड़ी पसंद हैं. इसी तरह मध्यप्रदेश और राजस्थान में भी भाजपा के हारने का अनुमान है. यह अनुमान एबीपी न्यूज- सी वोटर सर्वे में जाहिर किये गये हैं.

एबीपी न्यूज के अनुसार एबीपी के लिए सी-वोटर ने सबसे बड़ा ओपिनियन पोल किया है. इस ओपिनियन पोल के मुताबिक तीनों राज्यों में कांग्रेस की बहुमत की सरकार बनने की संभावनाएं हैं. राज्यों में भले ही कांग्रेस की सरकार बनती दिख रही है लेकिन केंद्र में मोदी सरकार को लोग दोबारा सत्ता सौंपना चाहते हैं.


छत्तीसगढ़ में एबीपी न्यूज- सी वोटर के ओपिनियन पोल के अनुसार इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा को 39%, कांग्रेस को 40% और अन्य को 21% वोट मिलेंगे.

एबीपी न्यूज सी वोटर सर्वे के मुताबिक छत्तीसगढ़ में कांग्रेस और भाजपा के बीच कांटे की टक्कर है. दोनों के बीच मात्र एक प्रतिशत वोटों का अंतर है. भाजपा को 39 प्रतिशत लोग अपना समर्थन जता रहे हैं तो कांग्रेस के हिस्से 40 प्रतिशत लोगों का समर्थन है. सबसे अहम यह है कि अन्य के हिस्से 21 प्रतिशत वोट हैं.

छत्तीसगढ़ में विधानसभा की कुल 90 सीट है और वोट शेयर में महज एक प्रतिशत का अंतर होने के बावजूद सीटों में भारी अंतर दिख रहा है. एबीपी न्यूज सी वोटर सर्वे के मुताबिक छत्तीसगढ़ में लोग सत्ता परिवर्तन चाहते हैं. कांग्रेस 54 सीटों के साथ बहुमत पा सकती है. सर्वे के मुताबिक भाजपा 33 सीटों पर सिमट सकती है. अर्थात 2013 के नतीजों के नजरिए से देखें तो भाजपा को 16 सीटों का नुकसान और कांग्रेस को 15 सीटों का फायदा हो रहा है.

एबीपी न्यूज सीवोटर सर्वे के मुताबिक छत्तीसगढ़ में सीएम की पहली पसंद रमन सिंह हैं. उन्हें 34 प्रतिशत लोग सीएम के रूप में अपनी पहली पसंद बता रहे हैं तो अजीत जोगी को 17 प्रतिशत लोग पसंद कर रहे हैं. जबकि कांग्रेस नेता भूपेश बघेल को महज 9 प्रतिशत लोगों ने अपनी पसंद बताया है.

एबीपी न्यूज सी वोटर सर्वे के मुताबिक राज्य में भले लोग कांग्रेस को सत्ता सौंपना चाहते हैं लेकिन केंद्र में वे भाजपा को भारी समर्थन दे रहे हैं. लोकसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा को 46 प्रतिशत तो कांग्रेस को 36 प्रतिशत लोगों का समर्थन मिलता दिख रहा है. हालांकि 2014 से तुलना करें तो भाजपा को 3 प्रतिशत का नुकसान हो सकता है. 2014 की तुलना में कांग्रेस को दो प्रतिशत का फायदा होने की संभावनाएं जताई जा रही हैं.

56 प्रतिशत लोग पीएम के रूप में नरेंद्र मोदी को अपनी पसंद बता रहे हैं तो राहुल गांधी को 21 प्रतिशत लोग पीएम के रूप में पसंद कर रहे हैं. यहां भी पीएम मोदी की लोकप्रियता राहुल गांधी पर भारी है.

मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में पिछले 15 सालों से भाजपा की सरकार है. भाजपा जहां एक बार फिर मध्य प्रदेश की सत्ता में कब्जा जमाने की कोशिश में है तो वहीं कांग्रेस 15 सालों का वनवास खत्म करना चाह रही है. सी वोटर के सर्वे के मुताबिक कांग्रेस को 42 प्रतिशत वोट शेयर मिल रहे हैं, तो वहीं भाजपा को 40 फीसदी और अन्य के खाते में 18 फीसदी वोट शेयर जाते दिख रहे हैं.

मध्य प्रदेश में विधानसभा की कुल 230 सीटें हैं, इसलिए बहुमत पाने के लिए किसी भी पार्टी को कम से कम 116 सीटों पर जीत हासिल करनी ही होगी. सी वोटर सर्वे के मुताबिक सीटों के मामले में भी कांग्रेस यहां भाजपा को पछाड़ते हुए दिख रही है. इस सर्वे के मुताबिक मध्य प्रदेश में अगर इस वक्त चुनाव हो जाएं तो कांग्रेस बहुमत का आंकड़ा छू सकती है. कांग्रेस के हिस्से में 117 सीटें जाते दिख रही हैं. वहीं भाजपा 106 सीटों पर ही सिमटते दिख रही है. इसके अलावा 7 सीटों पर अन्य का कब्जा हो सकता है. इस सर्वे के मुताबिक आगामी विधानसभा में भाजपा को कांग्रेस से बड़ा झटका मिल सकता है.

मध्य प्रदेश में अगर लोकसभा चुनाव को लेकर बात की जाए तो यहां भाजपा के हिस्से में ज्यादा वोट शेयर जाते दिख रहे हैं. इस सर्वे के मुताबिक भाजपा को 46 फीसदी वोट शेयर, कांग्रेस को 39 फीसदी और अन्य को 15 फीसदी वोट शेयर मिल सकते हैं. वहीं प्रधानमंत्री पद के लिए मध्य प्रदेश की 54 फीसदी जनता की पहली पसंद पीएम मोदी ही हैं और 25 फीसदी जनता की पसंद राहुल गांधी हैं.

इसी तरह राजस्थान में भी मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की तरह कांग्रेस ही बढ़त बनाते हुए दिख रही है. इस सर्वे के मुताबिक कांग्रेस को जहां 51 फीसदी वोट शेयर मिल सकता है तो वहीं भाजपा 37 फीसदी वोट शेयर पर ही सिमटती दिख रही है. अन्य को 12 फीसदी वोट शेयर मिल सकते हैं. अगर सीटों के हिसाब से बात करें तो 200 सीटों वाली विधानसभा में कांग्रेस के हिस्से में 130 सीटें जाते दिख रही हैं. वहीं भाजपा 57 सीटों पर ही सिमटते दिख रही है. इसके अलावा 13 सीटें अन्य के हिस्से में जाते दिख रही हैं.

इसके अलावा लोकसभा चुनाव की अगर बात करें तो भाजपा यहां बढ़त बनाते दिख रही है. सर्वे के मुताबिक भाजपा के हिस्से 47 फीसदी वोट शेयर, कांग्रेस के हिस्से 43 फीसदी और अन्य के हिस्से 10 फीसदी वोट शेयर जा सकते हैं. राजस्थान में पीएम पद के लिए 55 फीसदी लोगों की पहली पसंद नरेंद्र मोदी ही हैं. वहीं 22 फीसदी जनता राहुल गांधी को पीएम पद के उम्मीदवार के तौर पर पसंद कर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!