कांग्रेस नेता अहमद पटेल का निधन

नई दिल्ली | डेस्क: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पार्टी के कोषाध्यक्ष अहमद पटेल का निधन हो गया है. उनके बेटे फ़ैसल पटेल ने ट्विटर पर उनके निधन की जानकारी दी. फैसल के अनुसार बुधवार सुबह 3.30 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली.

71 साल के अहमद पटेल क़रीब एक महीने पहले कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे. उनका निधन दिल्ली से सटे गुड़गाँव के एक अस्पताल में हुआ.


फ़ैसल पटेल ने अपने ट्वीट में लिखा-, “अपने सभी शुभचिंतकों से अनुरोध करता हूं कि इस वक्त कोरोना वायरस के नियमों का कड़ाई से पालन करें और सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर दृढ़ रहें और किसी भी सामूहिक आयोजन में जाने से बचें.”


गौरतलब है कि अहमद पटेल कांग्रेस पार्टी के कोषाध्यक्ष थे. वो कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार भी रहे. वे 1985 में राजीव गांधी के संसदीय सचिव भी रहे थे.

कांग्रेस पार्टी के कोषाध्यक्ष के तौर पर उनकी नियुक्ति 2018 में हुई थी. आठ बार के सांसद रहे पटेल तीन बार लोकसभा के लिए चुने गए और पाँच बार राज्यसभा के लिए. आख़िरी बार वो 2017 में राज्यसभा गए और यह चुनाव काफ़ी चर्चा में रहा था.

बीबीसी के अनुसार 1986 में अहमद पटेल को गुजरात कांग्रेस का अध्यक्ष बनाकर भेजा गया. 1988 में गांधी-नेहरू परिवार द्वारा संचालित जवाहर भवन ट्रस्ट के सचिव बनाए गए. यह ट्रस्ट सामाजिक कार्यक्रमों के लिए फंड मुहैया कराता है.

धीरे-धीरे अहमद पटेल ने गांधी-नेहरू ख़ानदान के क़रीबी कोने में अपनी जगह बनाई. वो जितने विश्वासपात्र राजीव गांधी के थे उतने ही सोनिया गांधी के भी रहे.

21 अगस्त 1949 को मोहम्मद इशाक पटेल और हवाबेन पटेल की संतान के रूप में अहमद पटेल का जन्म गुजरात में भरुच ज़िले के पिरामल गांव में हुआ था.

80 के दशक में भरूच कांग्रेस का गढ़ हुआ करता था. अहमद पटेल यहां से तीन बार लोकसभा सांसद बने. इसी दौरान 1984 में पटेल की दस्तक दिल्ली में कांग्रेस के संयुक्त सचिव के रूप में हुई.

जल्द ही पार्टी में उनका क़द बढ़ा और तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी के संसदीय सचिव बनाए गए.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अहमद पटेल के निधन पर शोक जताते हुए लिखा है कि ‘अपने तेज़ दिमाग़ के लिए जाने जाने वाले पटेल की कांग्रेस को मज़बूत बनाने में भूमिका को हमेशा याद रखा जाएगा’.


कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शोक संदेश में लिखा है कि ‘अहमद पटेल के रूप में मैंने एक सहयोगी को खो दिया है जिसा सारा जीवन कांग्रेस के लिए समर्पित था…मैंने एक विश्वस्त सहयोगी और एक दोस्त को खो दिया है’.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अहमद पटेल के निधन पर ट्वीट कर लिखा है – “ये एक दुखद दिन है. अहमद पटेल पार्टी के एक स्तंभ थे. वे हमेशा कांग्रेस के लिए जिए और सबसे कठिन समय में पार्टी के साथ खड़े रहे. हम उनकी कमी महसूस करेंगे. फ़ैसल, मुमताज़ और उनके परिवार को मेरा प्यार और संवेदना.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!