महाराष्ट्र में भाजपा का नुकसान-अमित शाह

नई दिल्ली | डेस्क : भाजपा के चाणक्य कहे जाने वाले गृहमंत्री अमित शाह ने महाराष्ट्र पर अपनी चुप्पी तोड़ी है. उन्होंने कहा है कि राष्ट्रपति शासन लगाए जाने से विपक्ष नहीं, बल्कि भाजपा का नुकसान हुआ है. अमित शाह ने कहा कि अभी सबके पास समय है और कोई भी सरकार बनाने का दावा पेश कर सकता है.

उन्होंने एक एजेंसी से बातचीत में कहा कि साथी दल शिव सेना ने ऐसी शर्त रखी थी जो स्वीकार नहीं की जा सकती थी. उन्होंने कहा कि राज्यपाल की ओर से राष्ट्रपति शासन लगाने का फ़ैसला सही है.


गृह मंत्री ने यह भी कहा कि अगर किसी के पास संख्या बल है तो वह आज भी राज्यपाल के सामने सरकार बनाने का दावा पेश कर सकता है और राज्यपाल ने किसी को मौक़ा देने से इनकार नहीं किया है.

अमित शाह ने कहा कि अभी सबके पास समय है. कोई भी वहां जा सकता है. किसका मौक़ा छीन लिया, कैसे मौक़ा छीन लिया? मेरी समझ में नहीं आता कि कपिल सिब्बल जैसे विद्वान वकील बचकानी दलीलें दे रहे हैं कि उन्हें महाराष्ट्र में सरकार बनाने का मौक़ा नहीं मिला. आपके पास मौक़ा है, आप सरकार बनाओ ना.

अमित शाह ने यह भी कहा कि चुनाव अभियान के दौरान जब देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री के चेहरे के तौर पर पेश किया गया तो किसी ने आपत्ति नहीं की थी.

उन्होंने कहा कि चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मैंने कई बार सार्वजनिक तौर पर कहा कि हमारा गठबंधन जीतता है तो देवेंद्र फडणवीस मुख्यमंत्री होंगे. तब किसी ने आपत्ति नहीं की. अब वे नई मांग लेकर आए हैं जो हमें स्वीकार्य नहीं हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!