सीएम का कथित ऑडियो वाट्सऐप में डालने वाले को 3 महीने बाद जमानत

रायपुर | संवाददाता: कथित रुप से छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम से शराब दुकान खुलवाने का ऑडियो वाट्सऐप ग्रूप में डालने वाले युवकों को तीन महीने बाद हाईकोर्ट से जमानत मिल गई है. दोनों युवक 1 सितंबर से ही जेल में थे.

इन युवकों पर आरोप था कि इन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की नकल करती आवाज़ वाला एक ऑडियो राजनांदगांव ज़िले के फ्रेंड्स क्लब नामक एक वाट्सऐप ग्रूप में डाला था.


इसके बाद कांग्रेस के स्थानीय नेता नवाज़ ख़ान ने डोंगरगढ़ थाने में शिकायत की थी. पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार कर उन्हें जेल भेज दिया था.

क्या था ऑडियो में

इस ऑडियो में दो लोग खैरागढ़ के ग्राम पाड़ादाह में शराब दुकान खोलने को लेकर चर्चा कर रहे हैं.

इनमें से एक खुद को युवा बेरोजगार मजदूर कल्याण समिति का अध्यक्ष वहीं दूसरा व्यक्ति अपने को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की तरह प्रस्तुत कर बात कर रहा है.

सीएम की कथित आवाज़ : कौन बोल रहा है?
दूसरी आवाज़ : सर मैं बोल रहा हूं खैरागढ़ से, राजनांदगांव जिला से
सीएम की कथित आवाज़ : राजनांदगांव जिला से कौन बोल रहे हो?
दूसरी आवाज़ : अरविंद कुमार साहू बोल रहा हूं सर.
सीएम की कथित आवाज़ : हां साहू जी नमस्कार, बोलिए
दूसरी आवाज़ : नमस्कार सर, हम पांडादाह एरिया में एक दारू भट्टी की मांग चाहते हैं.
सीएम की कथित आवाज़ : धन्यवाद यार. पहली बार कोई इतना अच्छा प्रस्ताव लेकर आया है.
दूसरी आवाज़ : जी सर, यहां बहुत मांग है सर. हम लोग परेशान हो जाते हैं. 15-20 किमी जाना पड़ता है. 150 रुपए में लेना पड़ता है और.
सीएम की कथित आवाज़ : मतलब 150 रुपए एक्सट्रा देना पड़ता है.
दूसरी आवाज़ : जी सर, हम चाहते हैं कि खैरागढ़ ब्लॉक के पांडदाह में एक शराब भट्टी हो
सीएम की कथित आवाज़ : अच्छा वहां कौन सा ब्रांड चलेगा.
दूसरी आवाज़ : देशी वाला सर.
सीएम की कथित आवाज़ : पांडादाह की जनसंख्या कितनी है?
दूसरी आवाज़ : यहां जनसंख्या लगभग 3 से 4 हजार है सर. एरिया बहुत बड़ी है. चार गांव आसपास हैं. आसपास मिलाकर 7 से 8 हजार जनसंख्या होगी.
सीएम की कथित आवाज़ : आप क्या करते हैं साहू जी?
दूसरी आवाज़ : मैं अध्यक्ष हूं, युवा बेरोजगार मजदूर कल्याण समिति का.
सीएम की कथित आवाज़ : अभी कोरोना की वजह से लॉकडाउन चल रहा है. इसके बाद एक बार आकर आवेदन लाओ और मिलो. उसके बाद फिर देखते हैं.
दूसरी आवाज़ : जी सर
सीएम की कथित आवाज़ : और आप लेते हो कि नहीं साहू जी?
दूसरी आवाज़ : नहीं, मैं नहीं लेता हूं सर. मैं आम पब्लिक जनता सेवा के लिए लगा हूं यहां पर. आप लोगों के सहायोग से सेवा दे रहे हैं जनता को.
सीएम की कथित आवाज़ : हां.. हां .. हमारा सहयोग है. सेवा दीजिए, हम उपलब्ध कराएंगे मटेरियल.
दूसरी आवाज़ : जी सर, बहुत बहुत आशीर्वाद चाहते हैं आपका.
सीएम की कथित आवाज़ : हां बिल्कुल. लॉकडाउन खत्म हो जाए, तो आओ एक बार.

2 thoughts on “सीएम का कथित ऑडियो वाट्सऐप में डालने वाले को 3 महीने बाद जमानत

  • January 1, 2021 at 16:11
    Permalink

    क्या आप इसकी सच्चाई जानना चाहते हो

    Reply
  • January 1, 2021 at 17:29
    Permalink

    कांगेस सरकार की झुटा आरोप है 3 महिना तक चालान पेस नही कार पाया , केस पर किसी भी प्रकार का साबुत नही है आरोप मेरा उपर लगाया गया है वह मेरा स्वतंत्रता का अधिकार का हनन करते हुए फर्जी आरोप लगा रहे है

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!