पत्रकारों पर हमले के मामले में होगी कार्रवाई-भूपेश बघेल

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि बस्तर में पत्रकारों पर हमला करने वालों के ख़िलाफ़ सरकार कार्रवाई करेगी. उन्होंने पत्रकारों के सवाल के जवाब में कहा कि आरोपी चाहे किसी से भी जुड़े हुये हों, उनके ख़िलाफ़ कार्रवाई की जायेगी.

भूपेश बघेल ने कहा कि पुरानी सरकार और अब की सरकार में बदलाव को पत्रकार भी महसूस कर रहे होंगे.


गौरतलब है कि कांकेर में शनिवार को पत्रकार सतीश यादव और कमल शुक्ला पर कांग्रेसियों ने हमला किया था. इसके बाद चार आरोपियों को गिरफ़्तार किया गया था. हालांकि आरोपियों को थाने से ही जमानत मिल गई थी.

रविवार को पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि एक वह वक्त था जब बीजेपी की सरकार में बस्तर के एक पत्रकार को फर्जी धाराओं में जेल भेज दिया गया और दुर्भाग्य यह है कि उसके मीडिया हाउस ने यह मानने से इनकार कर दिया कि वह मेरा रिपोर्टर है. एक आज का वक्त है.

उन्होंने कहा कि आज पत्रकार कम से कम ताल ठोंककर कह रहे हैं कि भूपेश हम आ रहे हैं. मैं इसका स्वागत करता हूं. यही प्रजातंत्र है. उस समय की स्थिति और आज में क्या अंतर है, ये महसूस करिये.

पत्रकार सुरक्षा क़ानून

विपक्ष में रहते हुये भूपेश बघेल हमेशा पत्रकारों पर होने वाले हमलों को लेकर मुखर रहे हैं.

छत्तीसगढ़ जर्नलिस्ट यूनियन रायपुर में पत्रकार सुरक्षा कानून की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं, जिसमें प्रदेश के सभी…

Posted by Bhupesh Baghel on Monday, 15 January 2018

कमल शुक्ला के नेतृत्व में ही पिछली सरकार में पत्रकार सुरक्षा क़ानून को लेकर कई आंदोलन हुये थे.


दिसंबर 2018 में सत्ता में आने के बाद राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पत्रकार सुरक्षा क़ानून लागू करने का वादा किया था. हालांकि दो साल होने को आये, अभी तक इस क़ानून का प्रारुप ही बन पाया है.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रविवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि यह कानून पत्रकार ही बना रहे हैं. कानून अंतिम स्तर में पहुंच गया है. यह अपनी तरह का देश में पहला कानून होगा, तो देख समझकर बनाया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!