शायना को BJP कार्यकर्ता ने तंग किया

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: भाजपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता को गंदे मैसेज पार्टी का कार्यकर्ता ही भेजता था. भाजपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता शायना एनसी को लगातार अश्लील मैसेज भेजकर परेशान करने वाले की पहचान जयंत कुमार सिंह उर्फ सिंकू के रूप में हुई है. दावा किया जा रहा है कि वह भाजपा का ही कार्यकर्ता है. उसे गिरप्तार करने के लिये पुलिस टीम रवाना हो चुकी है. भाजपा नेत्री ने आरोपी शख्स के खिलाफ सख्स से सख्त कार्रवाई करने की मांग की थी, ताकि इस तरह की हरकत करने वालों में कड़ा संदेश जाये. पिछले महीने फैशन डिजाइनर और भाजपा कार्यकारिणी की सदस्य द्वारा फोन पर अश्लील और गंदे मैसेज भेजने वाले के खिलाफ पुलिस में शिकायत कराई गई थी.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार पुलिस के मुताबिक शुरू में आरोपी ने शायना एनसी को बहन के रूप में बर्थ-डे का मैसेज भेजा था लेकिन जनवरी से उसके मैसेज नॉर्मल नहीं रह गये. आरोपी ने भाजपा नेता को भद्दे और अश्लील मैसेज भेजने शुरू कर दिये. जिसके बाद शायना एनसी ने उसे सबक सीखाने का फैसला किया और इस मामले में शिकायत दर्ज कराई.


मामला महिला की गरिमा को ठेस पहुंचाने और आईटी एक्‍ट की धाराओं में दर्ज किया गया है. शायना ने बताया, “वह व्‍यक्ति सोशल मीडिया पर मुझे तंग कर रहा था. इसलिये ऐसे मामलों में जो किया जाना चाहिये वहीं मैंने किया. मैंने पुलिस में शिकायत की और मैं ऐसे लोगों को सबक सिखाना चाहती हूं.” शायना को पिछले साल दिसंबर से इस तरह के मैसेज मिल रहे थे. शायना मुंबई में रहती हैं और वह फैशन इंडस्‍ट्री का भी जाना पहचाना नाम है.

शायना के पिता मुस्लिम और मां हिंदू हैं. वहीं शायना एनसी के पति जैन हैं. वह महिला आरक्षण की समर्थक हैं और लंबे समय से इसे लागू करने के लिए आवाज उठा रही हैं. साथ ही कई मुद्दों पर वह पार्टी के रूख से अलग हटकर भी बोलती रही हैं.

2010 में जब शिवसेना ने शाहरुख खान की ‘माई नेम इज खान’ को रीलीज ना होने देने की धमकी दी थी तब उन्‍होंने इसका विरोध किया था. दिल्‍ली में उन्‍होंने इस फिल्‍म का प्रीमियर भी किया था. उन्‍हें क्‍वीन ऑफ ड्रेप भी कहा जाता है. शायना ने साड़ी को 54 अलग-अलग तरह से ड्रेप किया था. वहीं सबसे तेज साड़ी को ड्रेप करने के लिए उनका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड्स में भी दर्ज है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!