संकट ‘लॉक डाउन’ नहीं ‘नागरिक’ को चुनने का है ?

श्रवण गर्ग भारतीय रिज़र्व बैंक के पूर्व गवर्नर डी.सुब्बाराव ने पिछले दिनों लिखे अपने एक आलेख में वर्ष 1982 की

Read more

यह ‘भीड़’ अभी व्यवस्था की प्राथमिकता से बाहर है !

श्रवण गर्ग मुंबई के बांद्रा इलाक़े में जमा हुई भीड़ का मामला हाल-फ़िलहाल के लिए सुलझा लिया गया लगता है.

Read more

‘ये लोग‘ जानना चाहते हैं कि देश इनके लिए क्या कर रहा है ?

श्रवण गर्ग समझना थोड़ा मुश्किल हो रहा है कि राष्ट्र के नाम प्रधानमंत्री के चौथे सम्बोधन के बाद भी उम्मीदों

Read more

जो ‘श्रेष्ठ’ इस समय व्यक्त हो रहा है, क्या उसे स्थायी ‘सत्य’ मान सकते हैं ?

श्रवण गर्ग देश को आहिस्ता-आहिस्ता ‘लॉक डाउन’ से बाहर निकालने की तैयारियां चल रही हैं.

Read more

केरल से दिल्ली केवल 3,000 कि.मी. दूर ही नहीं, कुछ और फ़र्क़ भी है !

श्रवण गर्ग कुछ समय पहले केरल के मुख्यमंत्री के किसी चाहने वाले ने सोशल मीडिया पर अपनी भावना व्यक्त की

Read more

आरोपित ‘लॉक डाउन’ से स्वैच्छिक ‘लॉक अप‘ की ओर ?

श्रवण गर्ग नौ मिनट के सफलतापूर्वक किए गए देशव्यापी अंधेरे ने आगे आने वाले दिनों की सूरत पर अब काफ़ी

Read more

सवाल पूछे ही नहीं जा रहे हैं, जवाब मिलते जा रहे हैं !

श्रवण गर्ग हवा का रुख़ देखकर लगता है कि लोगों की बेचैनी बढ़ रही है, वे पहले के मुक़ाबले ज़्यादा

Read more
error: Content is protected !!