देश में सर्वाधिक सीसीटीवी कैमरे बिलासपुर स्टेशन में

बिलासपुर | संवाददाता: इस साल पूरे देश में सबसे अधिक सीसीटीवी कैमरे बिलासपुर स्टेशन पर लगे हैं. देश के सभी रेलवे जोन और दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के दूसरे सभी स्टेशनों को भी बिलासपुर ने कैमरों के मामले में पीछे छोड़ दिया है. अफसरों का कहना है कि इन कैमरों को लगाने का मुख्य उद्देश्य संदिग्ध लोगों की पहचान औऱ अपराध की दर को कम करना है लेकिन रेल मंत्रालय का कहना है कि देश भर के रेलवे स्टेशनों में इस तरह के कैमरे लगाये जाने के बाद भी रेलवे स्टेशनों में होने वाले अपराधों में कोई कमी नहीं देखी गई है.

दिलचस्प ये है कि सीसीटीवी कैमरे लगाने के मामले में पूरे देश में दूसरा नंबर रायपुर स्टेशन का है. आंकड़े बताते हैं कि इस साल बिलासपुर रेलवे स्टेशन में कुल 61 सीसीटीवी कैमरे लगाये गये हैं. इसी तरह रायपुर रेलवे स्टेशन पर 54 कैमरे लगाये जाने की खबर है.


हालांकि पिछले चार सालों के आंकड़े देखें तो दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के कई महत्वपूर्ण स्टेशन अभी भी इन कैमरों से वंचित हैं या इन स्टेशनों पर इन कैमरों की संख्या नगण्य है. 2014 से 2017 तक दुर्ग रेलवे स्टेशन पर केवल पांच सीसीटीवी कैमरे लगाये गये हैं. ये कैमरे 2016 में लगाये गये थे.

इस मामले में पड़ोसी स्टेशन राजनांदगांव दुर्ग से कहीं आगे है, जहां 2016 में ही 16 सीसीटीवी कैमरे लगाये गये. भंडारा रोड स्टेशन पर भी 10 सीसीटीवी कैमरे लगाये गये.

लेकिन क्या देश भर के स्टेशनों में सीसीटीवी लगाये जाने का कोई असर हुआ है, खास तौर पर रेलवे स्टेशनों पर अपराध दर में कोई गिरावट आई है? देश के रेल राज्य मंत्री राजेन गोहांई बेबाकी से स्वीकार करते हैं कि रेलवे स्टेशनों पर पिछले तीन वर्षों के दौरान अपराध दर में गिरावट का रुझान नहीं देखा गया है.

हालांकि इसके बाद भी अगले दो वर्षों में लगभग 983 रेलवे स्टेशनों पर निर्भया निधि के अंतर्गत 500 करोड़ रुपये की निधि के आवंटन से लगभग 35 हजार सीसीटीवी कैमरे लगाने का लक्ष्य रखा गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!