छत्तीसगढ़: शराब ने ली जान

अंबिकापुर | संवाददाता: अंबिकापुर में पति की पिटाई से शराबी पत्नी की मौत हो गई है. मिली जानकारी के अनुसार अंबिकापुर से लगे गांव डिगमा स्कूलपारा में खाना न खाने के विवाद पर शराब पीकर पति ने शराबी पत्नी को इतना पीटा कि वह उठ ही नहीं सकी. बाद में पता चला कि उसकी मौत हो गई है. पुलिस ने पति को गिरफ्तार कर लिया है.

छत्तीसगढ़ में एक तरफ शराब का विरोध हो रहा है तो दूसरी तरफ उसका समाज पर क्या असर पड़ रहा है उसका खुलासा हो रहा है. बीते दिनों अंबिकापुर के पास हुये पारिवारिक झगड़े में शराब की अहम भूमिका थी. जिसे पीकर पति-पत्नी लड़ने लगे तथा इस संघर्ष में पत्नी की मौत हो गई है. अब पति की जिंदगी जेल में ही कटेगी यह तय हो गया है.


अंबिकापुर से लगे गांव डिगमा स्कूलपारा में रहने वाली 35 वर्षीया सोना बाई चेरवा शराब का अक्सर सेवन करती रहती थी. वह सुबह-शाम शराब के नशे में धुत रहा करती थी. पिछले चार-पांच दिनों से वह खाना भी नहीं खा रही थी. 5 मार्च को जब शाम को उसका पति मजदूरी करके लौटा तो पत्नी को नशे में धुत पाया.

उसके बाद उसके पति नंदकुमार चेरवा ने भी पत्नी के साथ बैठकर शराब पी. शराब पीने के बाद पति ने कहा कि दोनों साथ मिलकर खाते हैं. खाना खाने की बात सुनकर सोना बाई आगबबूला हो गई तथा दोनों में मारपीट शुरु हो गया. इस बीच पति ने अपनी पत्नी का सिर दीवाल पर दे मारा. जिससे मौके पर ही वह अचेत होकर गिर गई.

अगले दिन सुबह उठकर पति काम पर चला गया. जब शाम को वह लौटा तो पड़ोसियों ने बताया कि उसकी पत्नी सोना बाई नहीं उठ रही हैं. उन्होंने गांव के सरपंच को इसकी सूचना दी. सरपंच ने मामले की गंभीरता को देखकर पुलिस को खबर की. पुलिस ने पाया कि मृतक सोना बाई के शरीर में जगह-जगह चोट के निशान हैं. सख्ती से पूछने पर पति ने हत्या करने की बात स्वीकार कर ली. पुलिस ने नंदकुमार को गिरफ्तार कर हत्या का मामला दर्ज कर लिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!