हंगामेदार होगा विधानसभा सत्र

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ विधानसभा का शीतकालीन सत्र हंगामेदार रहने के आसार हैं. इसके लिये कांग्रेस तथा छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस ने तैयारियां शुरु कर दी है. सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह द्वारा किसानों से किये गये वादों को पूरा नहीं करने पर कांग्रेस विधायक सरकार पर हमला करेंगे. शीतकालीन सत्र में कांग्रेस नसबंदी कांड को लेकर चर्चा कराये जाने की मांग भी करेगी. उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ विधानसभा का शीतकालीन सत्र 15 नवंबर से 21 नवंबर तक चलेगा.

पांच दिवसीय शीतकालीन सत्र के लिए भाजपा, कांग्रेस और अन्य दलों के विधायकों ने अभी तक 800 से अधिक सवाल लगाये हैं. इनमें 446 तारांकित और 384 अतारांकित सवाल हैं.


खबर है कि कांग्रेस इस शीतकालीन सत्र में फर्जी एनकांउटर, ताड़मेटला कांड, बस्तर के आईजीपी कल्लूरी का बयान, नकली खाद, मनरेगा भुगतान, डायरिया से मौत सहित कई मुद्दें को जोरदार तरीके से उठाने की तैयारी में है.

वहीं पुलिस थाने में दलित युवक की पिटाई से मौत को लेकर सत्ता पक्ष को घेरने की कोशिश की जायेगी. इसी के साथ ही राज्योत्सव में खर्च, बालीवुड कलाकारों का करोड़ों भुगतान और स्थानीय कलाकारों की उपेक्षा का मुद्दा भी उठाया जायेगा.

वहीं, छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस की युवा ईकाई राज्य सरकार के खिलाफ सत्ता छोड़ो आंदोलन शुरु करने जा रही है. इसकी शुरुआत 16 नवंबर को विधानसभा घेराव से होगा.

छत्तीसगढ़ जनता युवा कांग्रेस का कहना है कि किसानों को ना ही 2100 रुपए सर्मथन मूल्य और ना ही 300 रुपये बोनस दिया गया. आउटसोर्सिंग के जरिए दूसरे राज्यों के युवाओं को रोजगार दिया जा रहा है.

युवा छजकां के प्रदेश अध्यक्ष विनोद तिवारी ने कहा, बस्तर में फर्जी मुठभेड़ के नाम पर आदिवासियों को मारा जा रहा है. सरकार मजदूरों के 650 करोड़ डकार कर बैठी है. ऐसी सरकार के खिलाफ सत्ता छोड़ो आंदोलन कर 16 नवंबर को विधानसभा का घेराव किया जायेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!