सिम्स में रोटी मांगी तो गला दबा दिया

बिलासपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ की न्यायधानी बिलासपुर का सिम्स घोर अव्यवस्था का शिकार है. आरोपों के अनुसार रोटी तथा चावल और मांगने पर किचन स्टाफ ने मरीज के परिजन का गला दबा दिया. जिसके बाद मामला पुलिस तक पहुंच गया. वहीं, सिम्स के चिकित्सा अधीक्षक का कहना है कि उन्हें घटना की जानकारी नहीं है.

उन्होंने जांच के बाद कार्यवाही करने की बात की है. उधर, किचन स्टाफ का कहना है कि जैसा आरोप लगाया गया है वैसा कुछ नहीं हुआ है. बस थोड़ी सी बहसबाजी हुई थी.


मिली जानकारी के अनुसार लोरमी निवासी शिव कुमारी राठौर पिछले 17 नवंबर से सिम्स के सर्जिकल वार्ड में भर्ती है. शुक्रवार की दोपहर उसका पति 60 वर्षीय सियाराम राठौर उसे लेकर ओपीडी में डॉक्टर के पास जांच करवाने गया हुआ था. जब वह वहां से वापस आ रहा था तो रैम्प पर उसकी मुलाकात खाना बांटने वाले किचन स्टाफ से हुई.

सियाराम राठौर ने किचन स्टाफ से वहीं पर खाना मांगा. जब किचन स्टाफ ने खाना दिया तो सियाराम ने एक रोटी तथा कुछ और चावल मांगे. इस पर किचन स्टाफ के साथ तनातनी हो गई तथा किचन स्टाफ ने सियाराम का गला दबा दिया.

इससे किसी तरह से बचकर सियाराम सिम्स के पुलिस सहायता केन्द्र पहुंचा और मौके पर मौजूद स्टाफ को घटना की जानकारी दी. इतनी देर में किचन के अन्य स्टाफ वाले वहां पहुंच गये तथा सियाराम को ही धमकाने लगे.

उन्होंने मामले की लिखित शिकायत नहीं होने दी. तथा सियाराम को खदेड़ते हुये वापस वार्ड भेज दिया.

सिम्स सहायता केन्द्र के स्टाफ का कहना है कि इससे पहले भी इसी किचन स्टाफ पर मरीजों तथा उसके परिजनों से गलत व्यवहार करने का आरोप लगता रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!