छत्तीसगढ़ में कोरोना: एक और को छुट्टी

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस से संक्रमित रायपुर की युवती को एम्स से छुट्टी दे दी गई है. छत्तीसगढ़ में कोरोना से संक्रमण का पहला मामला था और युवती को 19 मार्च को रायपुर के एम्स में भर्ती कराया गया था.

राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने युवती को एम्स से छुट्टी दिये जाने का उल्लेख करते हुये ट्वीट किया.


उन्होंने ट्वीट में लिखा-छत्तीसगढ़ में सबसे पहली #COVID-19 पॉजिटिव युवती का पूरी तरह से इलाज हो गया है, अब वह पूर्णतः स्वस्थ है। 2 निगेटिव टेस्ट के बाद अस्पताल द्वारा उसे डिस्चार्ज कर दिया गया है। छत्तीसगढ़ में अब तक कुल 9 पॉजिटिव केस में से 4 इलाज करवाकर, स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं।

छत्तीसगढ़ में पिछले एक पखवाड़े से भी कम समय में 9 कोरोना संक्रमित लोगों की पहचान की गई थी. इसमें से 4 लोग अस्पताल से मुक्त किये जा चुके हैं लेकिन पांच संक्रमित अब तक अस्पताल में हैं.

मोबाइल सैंपल की व्यवस्था

इस बीच छत्तीसगढ़ सरकार ने फ़ैसला लिया है कि सभी संभावितों का सैंपल उनके घर पहुंचकर लिया जाएगा. सैंपल कलेक्शन के लिए मोबाइल एम्बुलेंस में सभी सुविधाओं एवं आवश्यक सामग्री के साथ सैंपल कलेक्शन विशेषज्ञ मौजूद रहेंगे.

यह निर्णय आज राज्य स्तरीय कमांड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की बैठक में लिया गया. सैंपल कलेक्शन की इस व्यवस्था से उपलब्ध संसाधनों का उचित उपयोग तथा टेस्टिंग में तेजी आएगी.

बैठक में बताया गया कि मोबाइल एम्बुलेंस संग्रहण के लिए संभावित मरीजों के घर के सामने पहुंचेंगी और उसमें मौजूद लैब टेक्नीशियन पीपीई किट, एन-95 मास्क एवं अन्य सुरक्षा उपकरण पहनकर एम्बुलेंस के पिछले हिस्से में एक-एक कर सभी कोरोना संभावितों का सैंपल कलेक्शन करेंगे.

प्रत्येक संभावित व्यक्ति का सैंपल कलेक्शन करते समय लैब टेक्नीशियन सिर्फ अपने हैण्डग्लब्स चेंज करेगा. पूरा पीपीई किट बदलने की आवश्यकता नहीं होगी. मोबाइल एम्बुलेंस के माध्यम से एक दिन में ही कई घरों में जाकर संभावितों का सैंपल कलेक्शन किया जा सकेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!