फर्जी एनकाउंटर के खिलाफ बीजापुर बंद

रायपुर | संवाददाता: सीआरपीएफ की गोली से युवक की मौत के खिलाफ आज बीजापुर बंद है. सीआरपीएफ जवानों की गोली से कांग्रेस नेता सूकलु पूनेम के पुत्र पूनेम नंदू की मौत हो जाने के विरोध में मंगलवार को बीजापुर बंद का आव्हान् किया गया है. मंगलवार को मरवाही से विधायक अमित जोगी भी बीजापुर पहुंच रहे हैं. गौरतलब है कि रविवार रात को सीआरपीएफ जवानों की गोली से बासागुड़ा के तिम्मापुर गांव के पूनेम नंदू की मौत हो गई. मृतक युवक पूनेम नंदू उसूर ब्लाक के कांग्रेस अध्यक्ष सूकलु पूनेम का बेटा है.

इसके अलावा सीआरपीएफ द्वारा घेरकर गोली चलाने से 28 वर्षीय कक्केम सुक्कू के पैर में गोली लगी है. सीआरपीएफ ने बासागुड़ा के फील्ड अस्पताल में ले जाकर उसका उपचार कराया.


गांव वालों का आरोप है कि सीआरपीएफ के जवानों ने गांव के कोरसा बुदरू, पनेम दशरथ, कोरसा पाण्डू,सेमला चंदू, अवलम शंकर एवं कोरसा लच्छू युवकों को गिरफ्तार करके रखा हुआ है. पुलिस अधीक्षक का कहना है कि सभी युवक सुरक्षित हैं.

गांव वालों का आरोप है कि 20 वर्षीय पूनेम नंदू रात को अपने खेत में साथियों के साथ रखवाली के लिये बैठा हुआ था, उसी समय सीआरपीएफ जवानों ने घेरकर गोली चलाई है. पूनेम नंदू का खेत सीआरपीएफ के कैम्प से तीन सौ मीटर की दूरी पर है.

जबकि पुलिस का कहना है कि क्रास फायरिंग से मौत हुई है. पुलिस के अनुसार सीआरपीएफ के जवान गश्त के लिये निकले थे, जहां उन पर फायरिंग की गई. जवाबी कार्रवाई के बाद हमें घटना स्थल पर एक नौजवान का शव मिला, जबकि एक व्यक्ति घायल अवस्था में मिला है.

बुरगुम मुठभेड़: कोर्ट में पलटी सरकार

नक्सली बता छात्रों की हत्या- भूपेश

मड़कम हिमड़े: न्यायिक जांच होगी

पुलिस है नक्सलियों की नर्सरी- जोगी

सोमवार को घटना की जानकारी मिलने पर काग्रेस के विधायक कवासी लखमा गांव पहुंचे. उऩके साथ जिला कांग्रेस अध्यक्ष विक्रम मण्डावी भी पहुंचे. बताया जा रहा है कि तिम्मापुर का पूनेम नंदू सीआरपीएफ जवानों का मददगार रहा है. उसे कैम्प के जवान पहचानते भी हैं.

नंदू के पिता सूकलु पुनेम का कहना था कि गांव के पास ही सीआरपीएफ का कैंप है और अधिकांश लोग मेरे परिवार को पहचानते हैं. मेरे बेटे का कैंप में भी आना-जाना था. वह पुलिस की मदद भी करता था. लेकिन पुलिस ने कैंप और घर से कुछ ही दूर मेरे बेटे को घेर कर मार डाला. उन्होंने आरोप लगाया कि सीआरपीएफ के जवान उनके बेटे से महिला माओवादियों के बारे में जानकारी एकत्र करने के लिये कहा था और ऐसा नहीं करने पर उसे निशाना बनाया गया.

उधर, कांग्रेस विधायक कवासी लखमा ने घटनास्थल का दौरा करके आरोप लगाया कि सीआरपीएफ के जवानों ने युवक को गोली मारी है.इस घटना के बाद से इलाके में तनाव का वातावरण बना हुआ है और कांग्रेस पार्टी ने मंगलवार को बीजापुर ज़िले को बंद करने की घोषणा की है. इसके अलावा प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने पूरे मामले की जांच के लिये एक कमेटी भी बनाई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!