छत्तीसगढ़: नंगे तार से हाथी की मौत

अंबिकापुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के सरगुजा में हाथियों की मौत बिजली के नंगे तारों के कारण हुई है. सरगुजा में हाथियों की मौत का कारण जानने पहुंचे वन्य प्राणी संरक्षण विभाग व विद्युत विभाग ने संयुक्त कार्रवाई से इसका खुलासा हुआ है. सरगुजा, सूरजपुर और बलरामपुर जिले में लगातार करंट से जंगली हाथियों की मौत हो रही है. हाल ही में सरगुजा के बतौली, मानपुर व सूरजपुर जिले के प्रतापपुर क्षेत्र में करंट से हाथियों की मौत हो चुकी है.

लगातार हाथियों की करंट से हो रही मौत की घटनाओं को देखते हुए वाइल्ड लाइफ सीएफ केके बिसेन ने शनिवार को सूरजपुर जिले के विद्युत विभाग कार्यपालन अभियंता मरकाम की टीम को लेकर सूरजपुर जिले के सरसताल, बोझा, झिंगादोहर, पंडरीडांड सहित आसपास के कई गांव में पहुंचे जहां लोगों ने जीआई तार से अवैध विद्युत कनेक्शन लिया हुआ था.


मौके पर पहुंचे दोनों विभाग के अधिकारियों ने ग्रामीणों को स्पष्ट निर्देश दे दिया है कि यदि वे जीआई तार से अवैध कनेक्शन लेंगे और हाथियों की मौत हुई तो उस गांव की विद्युत सप्लाई ही रोक दी जायेगी.

वाइल्ड लाइफ सीएफ व फिल्ड डायरेक्टर एलिफेंट रिजर्व केके बिसेन ने जिन इलाकों मे लगातार हाथियों की आमदरफ्त हो रही है उन इलाकों में लगातार वनकर्मियों को निगरानी रखने के निर्देश दिये हैं. उन्होंने इन इलाकों में ग्रामीणों को भी समझाइश दी कि वे कहीं भी जीआई तार के सहारे अवैध तरीके से कनेक्शन न लें और जमीन पर ऐसे तार न फैलायें. इससे न सिर्फ हाथियों बल्कि अन्य वन्य जीवों के साथ जनहानि भी हो सकती है.

गौरतलब है कि पिछले दिनों सरगुजा में करंट लगने से एक हथिनी तथा उसके बच्चें की मौत हो गई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!