छत्तीसगढ़ में 10 दिनों में छठे हाथी की मौत

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में गुरुवार को एक और हाथी की मौत हो गई. अधिकारियों का कहना है कि आरंभिक तौर पर जो जानकारी मिली है, उसके अनुसार गले में कटहल फंस जाने से इस हाथी की मौत हुई है.

वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि रायगढ़ ज़िले के छाल रेंज के बेहरामार गाँव के आज जो हाथी मारा गया है, वह वन विभाग में गणेश हाथी के नाम से चर्चित था. इस हाथी पर बड़ी संख्या में लोगों को मारने का आरोप है.


छत्तीसगढ़ में वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि गणेश के गले में कटहल फंसा हुआ है, इस आधार पर यह आशंका व्यक्त की गई है कि कटहल फंस जाने से उसकी मौत हुई है. हालांकि कटहल में ज़हर था या किसी और तरह का संक्रमण था, इसकी जानकारी पोस्टमार्टम के बाद ही मिल पायेगी.

हालांकि देश के कुछ जाने-माने हाथी विशेषज्ञों ने तस्वीर और वीडियो देखने के बाद कहा है कि हाथी की मौत संभवतः बिजली का करंट लगने से हुई होगी.

पिछले 10 दिनों में राज्य में 6 हाथी मारे गये हैं.

गणेश को लगाई थी कॉलर आईडी

पिछले साल जुलाई में हाटी के बेहराखार के जंगल में कुमकी हाथियों की मदद से गणेश हाथी को ट्रैंकुलाइज किया गया था. ट्रक में डाल कर उसे तमोर पिंगला ले जाया जा रहा था, इसी दौरान होश में आ कर उसने ट्रक का एक हिस्सा तोड़ दिया था.

दुबारा उसे ट्रेंकुलाइज कर के कुदमुरा ले जाया गया था. वहां से उसे तमोर पिंगला हाथी पुनर्वास केंद्र, सरगुजा में रखे जाने की योजना थी. गणेश को कॉलर आईडी भी लगाया गया.

लेकिन गणेश वन विभाग की जंजीर तोड़ कर भाग निकला. उसके बाद से ही गणेश के नाम से दहशत थी. बाद में गणेश की कॉलर आईडी भी जंगल में गिरी हुई मिली थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!