छत्तीसगढ़: अब सरकार बेचेगी शराब

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में सरकार देशी-विदेशी शराब बेचेगी. मंगलवार को हुये छत्तीसगढ़ सरकार के कैबिनेट ने निर्णय लिया है कि देशी तथा विदेशी शराब की फुटकर बिक्री सार्वजनिक उपक्रम के द्वारा की जायेगी. इस आशय का संशोधन आबकारी एक्ट में किया गया है. इस छत्तीसगढ़ आबकारी (संशोधन) अध्यादेश 2017 को अनुमोदन के लिये राज्यपाल को भेजा जायेगा. दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि नेशनल हाइवे से लगी दुकानें सड़क से 500 मीटर के दायरे में नहीं होंगी. ऐसे में राज्य की 411 दुकानों के ठेकेदार दुकान चलाने के इच्छुक नहीं हैं. अब इन दुकानों से जो घाटा होगा, उसे पूरा करने के लिए ही कार्पोरेशन का गठन किया जा रहा है.

अध्यादेश के अनुसार देशी तथा विदेशी मदिरा दुकानों के राजस्व को सुरक्षित रखने तथा राज्य की जनता के स्वास्थ्य हित की दृष्टि से देशी एवं विदेशी मदिरा की फुटकर विक्रय का अधिकार सार्वजनिक उपक्रम को दिया जायेगा. इसके लिये राज्य शासन के पूर्ण स्वामित्व वाली नवीन सार्वजनिक उपक्रम बनाया जायेगा.


इस पर अमल के लिए छत्तीसगढ़ आबकारी अधिनियम 1915 की धारा 18 (क) में संशोधन हेतु अध्यादेश लाने का निर्णय लिया गया है.

गौरतलब है कि अभी यह काम निजी ठेकेदार करते हैं. हालांकि ठेकेदारों को शराब उपलब्ध कराने का काम सरकारी एजेंसी बेवरेज कॉर्पोरेशन ही करती है.

उल्लेखनीय है कि साल 2015-16 में राज्य सरकार को कुल 69972 करोड़ रुपये का राजस्व मिला था जिसमें आबकारी विभाग की भागीदारी 3347.54 करोड़ रुपया था. इस तरह से राजस्व की प्राप्ति में आबकारी विभाग की भागीदारी 5 फीसदी से भी कम रही है.

राज्य स्थापना के समय आबकारी से 32.16 करोड़ का राजस्व मिला था जो 16 साल में बढ़कर 3347.54 करोड़ का हो गया है.

क्या होता है जब ड्राइवर होता है ‘टल्ली’. जाहिर है कि ‘बोल्ड’ हो जाता है. साथ में कुछेक और को भी ‘बोल्ड’ करवा देता है. कुछ ‘बोल्ड’ होते-होते रह जाते हैं. इन सभी के सरकारी आकड़े उपलब्ध हैं.

* साल 2015 में शराब पीकर गाड़ी चलाने के कारण देशभर में कुल 16,298 एक्सीडेंट हुये थे.
* जिसमें 6,755 लोगों की जानें गई थी.
* इससे 18,813 लोग घायल हुये थे.

* देश में शराब पीकर गाड़ी चलाने के कारण सबसे ज्यादा एक्सीडेंट मध्यप्रदेश में 2,665 हुये थे.
* दूसरे नंबर पर उत्तरप्रदेश है जहां पर 2,403 एक्सीडेंट हुये थे.
* तीसरे नंबर पर झारखंड है जहां 1,518 एक्सीडेंट हुये थे.
* छत्तीसगढ़ में 227 एक्सीडेंट हुये थे.

* शराब पीकर गाड़ी चलाने से हुये एक्सीडेंट में देश में सबसे ज्यादा मौत उत्तरप्रदेश में 1,404 हुये थे.
* उसके बाद सबसे ज्यादा मौत झारखंड में 906 हुये थे.
* तीसरे नंबर पर मध्यप्रदेश है जहां 705 मौतें हुई थी.
* छत्तीसगढ़ में 78 मौतें हुई थी.

* इसी तरह से सबसे ज्यादा घायल मध्यप्रदेश में 4,458 हुये थे.
* दूसरे नंबर पर उत्तरप्रदेश है जहां पर 1,735 घायल हुये थे.
* तीसरे नंबर पर बिहार है जहां 991 लोग घायल हुये थे.
* छत्तीसगढ़ में 203 लोग घायल हुये थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!