मिस्ड काल बनी हत्या की वजह

अंबिकापुर | संवाददाता: मोबाईल का मिस्ड काल किसी की जान ले सकता है यह छत्तीसगढ़ के मैनपाट में साबित हो गया. 29 नवंबर की रात को एक पति ने अपनी पत्नी के मोबाईल पर तीन बार मिस्ड काल आने पर उसके बारें में पूछा. जब पत्नी टालमटोल करने लगी तो पति ने शक में आकर पत्नी की हत्या कर दी. बाद में उसी पति ने पुलिस के भय से आत्महत्या भी कर ली.

मिली जानकारी के अनुसार 29 नवंबर की रात मैनपाट के परपटिया गांव पत्नी बसंती बाई के मोबाईल पर तीन बार मिस्ड काल आने पर शक के आधार पर उसके पति राजकुमार यादव ने उसकी हत्या कर दी. राजकुमार ने जलती लकड़ी से बसंती बाई को बेदम ढ़ंग से पीट-पीटकर उसे मार डाला.


हत्या के बाद राजकुमार ने पत्नी के शव को छुपाकर रखा दिया तथा उसके कपड़े जला दिये. 29 नवंबर की रात उसने अपनी पत्नी के शव को दरिमा के खरखटिया जंगल में फेंक दिया. जिसे 1 दिसंबर को पुलिस ने बरामद किया था.

शव की पहचान के बाद जब पुलिस उसके घर गई तो वहां पर खून के छीटें मिले तथा पति राजकुमार यादव गायब मिला. इससे पुलिस को हत्या का संदेह हुआ.

उधर, पुलिस के बढ़ते दबाव से डरकर राजकुमार यादव ने भी गांव से लगे जंगल में फांसी लगाकर हत्या कर ली.

पुलिस को मृतक के मलेशी तथी खेत की रखवाली करने वालों से हत्या तथा आत्महत्या के कारण का पता लगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!