रमन के खिलाफ कोर्ट पहुंचे जोगी

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के अध्यक्ष अजीत जोगी ने मुख्यमंत्री तथा भाजपा नेताओं के विरुद्ध धोखाघड़ी का परिवाद दायर किया है. छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह के साथ उन 10 भाजपा नेताओं के विरुद्ध मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी विवेक वर्मा के समक्ष परिवाद दायर किया है जो भाजपा के चुनाव घोषणा-पत्र समिति में शामिल थे.

अजीत जोगी ने न्यायालय के समक्ष परिवाद दायर किया है कि चुनाव घोषणा पत्र में किसानों से प्रति क्विंटल धान पर 300 रुपये बोनस तथा 2100 रुपये का समर्थन मूल्य देने का वादा किया गया था. वर्ष 2013 में विधानसभा चुनाव जीतने के बाद किसानों को वादे के अनुसार समर्थन मूल्य तथा बोनस का भुगतान नहीं किया गया है.


न्यायलय ने अजीत जोगी द्वारा प्रस्तुत परिवाद स्वीकार कर लिया है. न्यायलय ने 11 नवंबर को प्रारंभिक साक्ष्य के लिये सुनवाई की तारीख दी है.

अजीत जोगी ने अपने परिवाद में मुख्यमंत्री के साथ बृजमोहन अग्रवाल, अजय चंद्राकर, प्रेमप्रकाश पाण्डेय, सरोज पाण्डेय, चंद्रशेखर साहू, श्रीचंद सुंदरानी, निर्मल सिन्हा, रामविचार नेताम, अशोक शर्मा तथा सुभाष राव को भी परिवादी बनाया है जो भाजपा के चुनाव घोषणा पत्र समिति में साल 2013 के विधानसभा चुनाव के पहले शामिल थे.

अजीत जोगी के अधिवक्ता अशोक शर्मा ने इनके खिलाफ धारा 415, 420, 320 B, और 34 के तहत अपराध पंजीकृत करने का आग्रह न्यायालय से किया है.

वहीं, छत्तीसगढ़ भाजपा के प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा है कि अजीत जोगी अपने अस्तित्व को बचाये रखने के लिये असफल प्रयास कर रहे हैं. मामले को राजनीतिक मुद्दा बनाने की कोशिश की जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!