बस्तर में 4 हजार मरीजों का इलाज हुआ

दंतेवाड़ा | समाचार डेस्क: लाइफ लाइन एक्सप्रेस के माध्यम से बस्तर के करीब 3600 मरीजो का इलाज किया गया. पांच अक्टूबर को दंतेवाड़ा पहुंची इस आधुनिक चिकित्सा से लैस विशेष रेल गाड़ी के माध्यम से 25 अक्टूबर तक दंतेवाड़ा, बीजापुर और सुकमा के मरीजों का मुफ्त इलाज किया गया.

बीस दिनों तक दंतेवाड़ा में रही लाइफ लाइन एक्सप्रेस में मोतियाबिंद के 985 सर्जरी, कटे-फटे होंठ वाले 10 बच्चों की सर्जरी की गई तथा 64 बच्चों को कृत्रिम अंग प्रदान किये गये.


इसके अलावा 172 मरीजों को श्रवण यंत्र प्रदान किये गये और 23 की सर्जरी की गई. दांत संबंधी 498 मरीजों का इलाज किया गया. इसके अलावा बाकी के मरीजों का इलाज ओपीडी में किया गया.

लाइफ लाइन एक्सप्रेस
लाइफ लाइन एक्सप्रेस 1991 से लगातार चल रही है. यह ट्रेन दूर-दूर रह रहे गाँवो तक जरुरी दवाइयों को पहुचाती है. जिन लोगों को चिकित्सा सेवा नहीं मिल पाती, उनके लिए ये बहुत अच्छी सेवा है. इस सेवा को शुरुआत में गैर सरकारी संस्था ने शुरू किया था. अब यह ट्रेन भारतीय रेल और स्वस्थ्या मंत्रालय द्वारा संचालित है.

लाइफ लाइन एक्सप्रेस लगभग पूरे देश में घूमती है. हर स्टेशन में यह लगभग 21 दिन तक रूकती है. जिससे वहां के सभी जरुरत मंद लोगों को इस सेवा का फ़ायदा मिल सके. अभी लाइफलाइन एक्सप्रेस ने 25 साल पूरे किये. इसने अभी तक लगभग 1,00,000 लोगों का इलाज करके उन्हें ठीक किया है. इस सेवा में अंधेपन, सुनने की परेशानी, मस्तिष्क संबंधी, और ह्रदय संबंधी बीमारियां ठीक की है.

इस ट्रेन की सबसे अच्छी बात यह है कि इलाज बिलकुल मुफ्त है. यहाँ दवाइयों के लिये कोई पैसा खर्च नहीं करना. इस सेवा में सरकार के आलावा कोई भी हिस्सेदार बन सकता है. अगर आप जन सेवा करना चाहते है. तो आप इस ट्रेन में निकल पड़िये और करिये ऐसे लोगों की जिन्हें आपकी ज्यादा जरुरत है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!