छत्तीसगढ़: नगरनार के निजीकरण का विरोध

जगदलपुर | संवाददाता: एनएमडीसी के नगरनार प्लांट के निजीकरण का बस्तर के ग्रामीण विरोध कर रहें हैं. पहले ग्रामीणों ने सरकारी क्षेत्र के नगरनार स्टील प्लांट के लिय जमीने दे दी थी. अब ग्रामीण नगरनार प्लांट के लिये बचेली से नगरनार तक पाइप लाइन बिछाने के लिये जमीन देने को तैयार नहीं हैं.

मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को बाबूसेमरा, नकटी सेमरा और खुटपदर में प्रशासन द्वारा विशेष ग्रामसभा का आयोजन किया गया था. तीन स्थानों पर आयोजित ग्रामसभा में से केवल नकटीसेमरा के ग्रामीणों ने पाइप लाइन बिछाने की सहमति दी है. वहीं, अन्य दो स्थानों पर सहमति के लिये जिला प्रशासन और एनएमडीसी के अधिकारी काफी मशक्कत करते रहे, लेकिन उनकी कोशिश सफल नहीं हो पाई.


बताया जा रहा है कि खुटपदर में ग्रामीणों ने नगरनार स्टील प्लांट के निजीकरण को विरोध को लेकर सर्वसम्मति से सभा का विरोध किया. ग्रामीणों का कहना था कि राज्य सरकार उनके साथ छलावा कर रही है जो अब किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जायेगा.

ग्रामीणों की शर्त है कि सरकार जब नगरनार स्टील प्लांट के निजीकरण का पैसला वापस लेगी तब उन्हें जमीन दी जायेगी. ग्रामीणों का कहना है कि नगरनार स्टील प्लांट के निर्माण के समय जो वादा राज्य और केंद्र सरकार ने किया है जब तक उसे पूरा नहीं किया जाता तब तक स्लरी पाइल लाइन बिछाने के लिये जमीन नहीं दी जायेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!