छत्तीसगढ़: रायपुर की हवा बनी जानलेवा

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर की हवा खतरनाक स्तर तक पहुंच गई है. रायपुर के रविशंकर यूनिवर्सिटी में प्रदूषण को लेकर चल रहे एक शोध से इसका खुलासा हुआ है. शोध में खुालास हुआ है कि रायपुर में 1.0 पीएम जैसे बेहद महीन कण बड़ी संख्या में हैं. जो हवा के साथ फेफड़ों तक पहुंच जाते हैं तथा रक्त कोशिकाओं के साथ मिल जाते हैं. जिससे हृदय के रोग तथा कैंसर होने की संभावना कई गुना बढ़ जाती है.

रायपुर के डॉ. भीमराव अंबेडकर अस्पताल के हृदयरोग विशेषज्ञ डॉ. स्मित श्रीवास्तव का कहना है कि सूक्ष्म होने के कारण 1.0 पीएम के कण आसानी से फेफड़ों तक पहुंच जाते हैं फिर खून के साथ मिलकर ये मनुष्य के हृदय तक पहुंच जाते हैं. उनका कहना है कि इसकी वजह से हृदय, फेफड़े तथा किडनी से जुड़ी कई तरह की समस्या पैदा हो रही है. इसके अलावा ये कण फेफड़ों की दीवारों में जमकर उसे सख्त बना देती है जिससे फेफड़े खून को सही तरह से पंप नहीं कर पाते हैं.


गौरतलब है कि राजधानी रायपुर के आसपास लगे उद्योगों से निकलने वाले धुओं, गाड़ियों के धुयें, कूड़े को जलाने, सड़क की धूल तथा रबर और टायरों के जलाने से रायपुर में प्रदूषण बढ़ रहा है.

संबंधित खबरें-

रायपुर सर्वाधिक प्रदूषित शहर: WHO

देश का सबसे प्रदूषित शहर है रायपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!