छत्तीसगढ़: दो फल व्यापारी गिरफ्तार

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के रायपुर में केमिकल से फल पकाने वाले दो व्यापारियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. रायपुर पुलिस ने आरकेजी फ्रूट शॉप जवाहर मार्केट गोलबाजार के 44 वर्षीय अशोक कुमार बघेल तथा महाजन फ्रूट सप्लायर गोलबाजार के 40 वर्षीय शंकर चौबे को कार्बाइड से फल पकाने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है. उनके खिलाफ धारा 269, 273 के तहत अपराध कायम किया गया है. गौरतलब है कि 18 जनवरी को प्रशासन ने रायपुर की फल मंडी में छापामार कार्यवाही करके केमिकल से फल पकाये जाने के मामले पकड़े थे.

बता दें कि रायपुर में पहली बार किसी फल व्यापारी के केमिकल से फल पकाने के जुर्म में गिरफ्तार किया गया है. इन व्यापारियों पर आरोप है कि वे स्वास्थ्य के लिये हानिकारक केमिकल से फल पकाकर बाजार में बेचते हैं.


रायपुर की फल मंडियों में केमिकल से फल पकाये जाने के मामले को पकड़े जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव ने ड्रग कंट्रोलर को निर्देश दिये हैं कि राजधानी रायपुर ही नहीं, हर संभाग और जिलें की फल मंडियों में लगातार जांच की जाये कि वहां फल केमिकल से तो नहीं पकाये जा रहे हैं.

गौरतलब है कि पखवाड़े भर पहले राजधानी रायपुर में जिला प्रशासन के उच्चाधिकारियों द्वारा छापेमारी की गई थी. उस दौरान बड़ी मात्रा में केमिकल से केला, पपीता तथा आम को पकाये जाने के सबूत मिले थे.

रायपुर में उस समय 9000 किलो फल जब्त किये गये थे जिन्हें केमिकल से पकाया जा रहा था. रायपुर में पाया गया था कि टैगपोन-36 एवं ईथीलीन गैस का उपयोग फलों को पकाने के लिये होता है. इन रसायनों से लीवर तथा किडनी में गड़बड़ी होती है तथा कैंसर का खतरा हो सकता है. इसके बावजूद फल दुकानदार मुनाफा कमाने के लिये इन हानिकारक रसायनों का उपयोग कर रहें हैं.

गौरतलब है कि डब्ल्यूएचओ द्वारा कैल्शियम कार्बाइट से फलों को पकाना पूरी तरह से प्रतिबंधित किया गया है. यह एक तरह का यौगिक है, जो फलों में लगे रहने के बाद शरीर में जाने से बीमारियां पैदा करता है. खासकर कैंसर का खतरा बढ़ जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!