सुकमा बंद से बौखलाये भाजपाई

सुकमा | समाचार डेस्क: सुकमा बंद के दिन भाजपाईयों ने कथित रूप से दुकानों के दरवाजों पर लात मारकर अपनी भड़ास निकाली. गौरतलब है कि नोटबंदी के खिलाफ कांग्रेस द्वारा 30 दिसंबर को छत्तीसगढ़ बंद का आव्हान् किया गया था. इस दिन बस्तर के सुकमा जिले का मुख्यालय स्वतः बंद रहा. इससे गुस्साये भाजपा के जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने बंद दुकानों के दरवाजे तथा शटर पर लातें मारी. इससे व्यापारी वर्ग नाराज हो गया है.

मिली जानकारी के अनुसार इस दिन सुकमा नगरपालिका की महिला एल्डरमेन लीला बाफना व उनके परिजनों को जिला भाजपाध्यक्ष ने सार्वजनिक तौर पर खरीखोटी सुनाई. उनके मानदेय को लेकर भी टिप्पणी की गई. भाजपा समर्थित परिवार होने के बावजूद दुकान बंद होने को भाजपाई पचा नहीं पाये.


30 दिसंबर की इस घटना के बाद सुकमा के व्यापारी वर्ग में रोष व्याप्त है. व्यापारी बंद के दिन जिला भाजपाध्यक्ष द्वारा उनके दुकानों के दरवाजों पर कथित रूप से लात मारे जाने से नाराज हैं. व्यापारी इस मुद्दे पर आर-पार की लड़ाई के मूड में आ गये हैं.

सुकमा के व्यापारी संघ ने इस मामले में राज्य के मुख्यमंत्री रमन सिंह को पत्र लिखकर कड़ी कार्यवाही की मांग की है.

वहीं, कांग्रेस ने बंद के दिन व्यापारियों के दुकान के दरवाजों पर लात मारने की निंदा की है. प्रदेश युवा कांग्रेस के महामंत्री दुर्गेश राय ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करके कहा है कि भाजपा सत्ता के मद में चूर है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!