सरगुजा में मनरेगा का भुगतान रुका

अंबिकापुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के सरगुजा में मनरेगा का भुगतान रोक दिया गया है. मनरेगा के तहत काम करने वाले मजदूरों का 2 करोड़ 64 लाख रुपये बकाया है. जिसका भुगतान सेन्ट्रल से फंड नहीं आने के कारण नहीं किया जा रहा है.

इससे एक ओर तो मजदूरी करने वाले परिवारों के भरष-पोषण की समस्या उत्पन्न हो गई है दूसरी तरफ उन्हें पैसो की कमी के कारण अगले धान की तैयारी करने में उन्हें मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है.


गौरतलब है कि मनरेगा कार्यक्रम की शुरुआत मनमोहन सिंह के प्रधानमंत्री रहते शुरु की गई थी. इसका उद्देश्य गांव वालों को उनके गांव में ही निर्माण का काम कराकर मजदूरी देना है. जिससे एक ओर तो गांव वालोंका पलायन रुकता है तो दूसरी ओर मनरेगा के तह गांव के लिये सड़क, कुंआ आदि का भी निर्माण करा लिया जाता है.

इससे गांव के विकास के साथ-साथ ही गांव वालों का भी विकास हो जाता है.

सरगुजा मनरेगा-
सरगुजा में मनरेगा के पंजीकृत मजदूरों की संख्या 2 लाख 46 हजार 78 है. जिसमें से 56 हजार 858 परिवार ने रोजगार मांगा था. इनमें से 42 हजार 431 परिवारों को ही रोजगार मिल सका है. वर्तमान में 2073 मजदूर ही काम कर रहें हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!