छत्तीसगढ़: जब रक्षक बने भक्षक

भिलाई | संवाददाता: भिलाई में रक्षक के भक्षक बनने का मामला आया है. भिलाई में पुलिस के तीन जवानों ने 17 वर्षीय नाबालिक लड़की के साथ बंद कमरे में छेड़छाड़ कर उसकी अश्लील फोटो ले ली फिर फोटो को वायरल करने की धमकी देकर खाली मकान में बुलाया. नाबालिक द्वारा घटना की जानकारी परिजनों को देने से वह उनके हवस का शिकार बनने से बच गई.

मामले की जानकारी मिलने पर पुलिस के आला अफसर पहुंचे तथा आरोपी तीनों जवान उमेश पाण्डेय, संजय सोनी तथा सागर कनौजिया के खिलाफ मामला दर्ज कर उन्हें निलंबित कर दिया.


मिली जानकारी के अनुसार सोमवार दोपहर शहर के जामुल इलाके की रहने वाली एक स्थानीय नेता की भतीजी अपने दोस्त को कॉलेज की फीस के रुपये देने कुरुद गांव स्थित हॉस्टल गई थी. जब वहां से नाबालिक लड़की लौट रही थी तो पुलिस के तीनों जवान उसे पूछताछ के बहाने एक कमरे में ले गये.

जहां पर उससे घंटेभर पूछताछ के बहाने छेड़छाड़ की गई तथा उसका फोटो खींच लिया. इतना ही नहीं लड़की के पास रखे 1500 रुपये को भी पुलिस वालों ने छीन लिया. इसके बाद नाबालिक लड़की को धमकी दी कि वह संजय सोनी के हाउसिंग बोर्ड के खाली मकान में एक घंटे के अंदर आये अन्यथा उसका अश्लील फोटो शहर में वायरल कर दिया जायेगा.

घबराई हुई लड़की घर पहुंचकर रोने लगी तथा परिजनों को इसकी जानकारी दी. इसके बाद पार्षद वशिष्ठ नारायण मिश्रा, नेता प्रतिपक्ष रिकेस सेन, पीयूष मिश्रा सहित सैकड़ों लोग जामुल थाने पहुंचे तथा घेराव किया.

घटना की जानकारी मिलने पर सीएसपी नरेन्द्र शर्मा थाने पहुंचे तथा तत्काल आरोपियों को गिरफ्तार करने का निर्देश दिया. जवानों के खिलाफ पॉस्को एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है.

पॉस्को एक्ट तथा सजा

प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन फार्म सेक्सुअल अफेंसेस एक्ट 2012 यानी लैंगिक उत्पीड़न से बच्चों के संरक्षण का अधिनियम 2012 है. इस एक्ट के तहत नाबालिग बच्चों के साथ होने वाले यौन अपराध और छेड़छाड़ के मामलों में कार्रवाई की जाती है. यह एक्ट बच्चों को सेक्सुअल हैरेसमेंट, सेक्सुअल असॉल्ट और पोर्नोग्राफी जैसे गंभीर अपराधों से सुरक्षा प्रदान करता है.

18 साल से कम उम्र के बच्चों से किसी भी तरह का यौन व्यवहार इस कानून के दायरे में आ जाता है. यह कानून लड़के और लड़की को समान रूप से सुरक्षा प्रदान करता है. इस कानून के तहत पंजीकृत होने वाले मामलों की सुनवाई विशेष अदालत में होती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!