पत्नीहंता, पुत्रहंता का आत्मसमर्पण

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में पत्नी व पुत्र के हत्यारे ने आत्मसमर्पण कर दिया है. छत्तीसगढ़ के महासमुंद में दो दिन पहले आर्थिक तंगी से तंग आकर अपनी पत्नी तथा पुत्र का गला रेत देने वाले शख्स ने खुद थाने में आत्मसमर्पण कर दिया है.

मिली जानकारी के अनुसार महासमुंद के रहने वाले 40 वर्षीय संदीप गुप्ता ने 12 नवंबर दोपहर को अपनी 40 वर्षीय पत्नी अंजू गुप्ता तथा 8 वर्षीय पुत्र प्रतीकराज को गला दबाकर मारने की कोशिश की. गला दबाने से जब वे बेहोश हो गये तो संदीप ने पेंसिल कटर से उनका गेल रेत दिया.


इसके बाद उसने खुद आत्महत्या करने के इरादे से रेलवे स्टेशन का रुख किया. जहां पर दुर्ग-विशाखापट्नम ट्रेन खड़ी हुई थी. संदीप आगे कहीं ट्रेन से कटकर मरने के इरादे से उसमें सवार हो गया. परन्तु वह पत्नी एवं पुत्र की हत्या के ग्लानि और शोक के चलते आत्महत्या न कर सका.

विशाखापट्नम पहुंचकर उसने वहां के थाने में जाकर अपना अपराध कबूला लेकिन पुलिस वालों ने उसे मानसिक रोगी समझकर भगा दिया. वहां से वापस आकर संदीप गुप्ता ने महासमुंद थाने में आत्मसमर्पण किया.

संदीप गुप्ता ने थाने में कहा कि मैं मरकर मुक्ति पा सकता था परन्तु मुझे मेरे किये की सजी मिलनी चाहिये.

संदीप जब दस साल का था तो उसके सिर से पिता का साया उठ गया था. मां ने उसे पाल पोसकर बड़ा किया. संदीप का एक सपना था कि वह बड़ा होकर बड़ा आदमी बनेगा. उसने अंजू के साथ प्रेम विवाह किया था.

संदीप ने थाने में कहा कि कर्ज और आर्थिक तंगी से परेशान होकर उसने परिवार समेत इस दुनिया से जाने का फैसला कर लिया था. इसलिये उसने 12 नवंबर को पहले अरनी पत्नी तथा पुत्र की हत्या कर दी उसके बाद वह खुद भी आत्महत्या करना चाहता था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!