महाराष्ट्र और पंजाब में कर्फ्यू

नई दिल्ली | संवाददाता: कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए के लिए पूरे पंजाब में कर्फ़्यू लगा दिया गया है. इससे पहले महाराष्ट्र ने कर्फ्यू लगाने की घोषणा की थी. उद्धव ठाकरे इस आफदा से निपटने के लिये सेना की मदद ले सकते हैं.

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ट्वीट कर कहा, ”पूरी दुनिया कोविड-19 यानी कोरोना वायरस के ख़तरे में है. पंजाब भी इससे अलग नहीं है. मुश्किल वक़्त में मुश्किल फ़ैसले की ज़रूरत होती है. सभी की भलाई के लिए पूरे राज्य में कर्फ़्यू लगा दिया गया है. हमने बुज़ुर्गों और हाशिए के लोगों की मदद के लिए पहले ही ज़रूरी क़दम उठाए हैं. सभी को इसका पालन करना चाहिए.”


चंडीगढ़ के प्रशासक वीपी सिंह बदनौर ने कहा- सोमवार आधी रात से कोरोना वायरय को देखते हुए कर्फ़्यू लगा दिया जाएगा. सिर्फ़ आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को ही इस दौरान बाहर निकलने की इजाज़त होगी.

इससे पहले महाराष्ट्र में कर्फ्यू लगाये जाने की घोषणा की गई थी.

महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा, “लॉकडाउन के बावजूद लोग सड़कों पर हैं, इस कारण पूरे महाराष्ट्र में कर्फ़्यू लगाना पड़ रहा है. जो ज़िले प्रभावित नहीं हैं, उन्हें बचाने के लिए यह क़दम ज़रूरी है.”

उन्होंने कहा, “महाराष्ट्र में लॉक डाउन के बाद भी हमने लोगों को सड़कों और हाइवे पर यात्रा करते हुए देखा है. जनता कर्फ़्यू का एक दिन पालन करने से हमारी ज़िम्मेदारियां ख़त्म नहीं हो जाती हैं. बल्कि ये उस युद्ध के लिए रणभेरी जैसा है जो कि हम लड़ने जा रहा है. हमने अब पूरे राज्य में कर्फ़्यू लगाने का फ़ैसला किया है. अब कोई भी घर से तब तक कदम बाहर नहीं निकालेगा जब तक कि ऐसा करना बेहद ज़रूरी न हो.”

उद्धव ठाकरे ने बीएमसी से लेकर अलग-अलग शहरों के प्रशासनिक अधिकारियों और पुलिस अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग बैठक की है.इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि अगर ज़रूरत पड़ती है तो अस्पताल आदि बनाए जाने के लिए सेना की मदद ली जा सकती है.

महाराष्ट्र में अब तक कोरोना वायरस के 89 मरीज़ सामने आ चुके हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!