आम बजट पेश है…..

नई दिल्ली | संवाददाता: वित्त मंत्री संसद में बजट पेश कर रहें हैं. उन्होंने बजट पेश करते हुये कहा “नोटबंदी एक बोल्ड और साहसिक फ़ैसला था जो जनहित में लिया गया था. अब हमारा जीडीपी स्पष्ट, ईमानदार और बड़ा होगा”. उन्होंने कहा कि नोटबंदी का “अर्थव्यवस्था पर मामूली और अल्पकालिक असर होगा, बैंक अब अधिक लोन दे पायेंगे और समाज के हर तबके का विकास होगा.”

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने महात्मा गांधी को याद किया और उनका हवाला देते हुए कहा कि गांधी जी ने कहा था कि “सच्चे लक्ष्य की कभी हार नहीं होती.” अरुण जेटली ने कहा दूसरे देशों की तुलना में भारत की विकास दर अच्छी है.


बजट की मुख्य बातें-

* साल 2019 तक 1 करोड़ परिवार गरीबी से बाहर हो जायेंगे.

* 5 साल में किसानों की आय दोगुना हो जायेगी.

* अगले साल किसानों को 10 लाख करोड़ रुपये का कर्ज दिया जायेगा.

* 2 साल में 1 करोड़ घर बनाये जायेंगे.

* नोटबंदी की वजह से होम लोन सस्ता हुआ है.

* 2017-18 में 3,500 किलोमीटर नई रेल लाइनों को चालू करने का लक्ष्य.

* 2016-17 में 2,800 किलोमीटर की लाइनें शुरू की जा रही हैं.

* इंद्रधनुष योजना- क्षेत्र के बैंकों को 2017-18 में 10,000 करोड़ रुपये की शेयर पूंजी उपलब्ध कराई जायेगी.

* भारत 2017 तक कालाजार, 2018 तक लेप्रोसी, 2020 तक खसरा और 2025 तक टीबी से मुक्‍त होगा.

* वर्ष 2017-18 में 25 रेलवे स्टेशनों का पुन: विकास किया जायेगा.

* बजट में रेल रक्षा एवं संरक्षा कोष के लिये एक लाख करोड़ रुपये का प्रावधान.

* रेलवे को केंद्रीय बजट से 2017-18 में 55,000 करोड़ रुपये की सहायता मिलेगी.

इसी के साथ रेल का बजट भी पेश किया गया:

* यात्रियों की सुरक्षा पर सरकार एक लाख करोड़ खर्च करेगी.

* आईआरसीटीसी के ज़रिए ई-टिकट बुकिंग्स के दौरान अब अलग से सर्विस चार्ज नहीं लगेगा.

* रेलवे की तीन बड़ी कंपनियां- आईआरसीटीसी, आईआरएफ़सी और इरकॉन शेयर बाज़ार में उतरेंगी.

* 500 रेलवे स्टेशनों को शारीरिक रूप से अक्षम लोगों के लिए सुविधाजनक बनाया जायेगा.

* 1.31 लाख करोड़ रेलवे के विकास पर खर्च किया जायेगा.

* रेलवे का मुख्य फोकस- यात्री सुरक्षा, सफ़ाई और विकास है.

* 2019 तक भारतीय रेलवे के सभी कोच बायो-टॉइलेट से लैस हो जायेंगे.

* मानवरहित क्रॉसिंग को 2020 तक ख़त्म कर दिया जायेगा.

* यात्रा के दौरान कोच से जुड़ी समस्याओं को सुलझाने के लिए कोच मित्रों की नियुक्ति होगी.

टैक्स संबंधी घोषणा:

* 2.5 लाख से 5 लाख रुपये तक की आय पर 5% टैक्स लगाने का प्रस्ताव जो पहले 10% था.

* 50 लाख से एक करोड़ कमाने वालों को 10% सरचार्ज देना होगा.

* पिछले वित्त वर्ष में सिर्फ़ 3.7 करोड़ लोगों ने टैक्स रिटर्न भरा.

* सिर्फ़ 76 लाख लोगों ने 10 लाख से अधिक कमाई दिखाई जबकि विदेश 2 करोड़ लोग विदेश घूमने गये.

* कैपिटल गेन टैक्स में अब 3 साल की जगह दो साल को लॉन्ग टर्म माना जायेगा

* 50 करोड़ रुपये तक के टर्नओवर वाली कंपनी के टैक्स में कटौती, अब 25% टैक्स, पहले 29 था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!