वियतनाम ने किया भारत का स्वागत तो चीन बौखलाया

बीजिंग।डेस्क: दक्षिण चीन सागर में भारत का दखल चीन को बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं है. एससीएस के तेल एवं प्राकृतिक गैस भंडार वाले क्षेत्र में भारत को निवेश के लिए आमंत्रित किए जाने के वियतनाम के निर्णय पर चीन कड़ी आपत्ति दर्ज कराई है. दरअसल भारत में वियतनाम के राजदूत टोन सिन थान ने मंगलवार को भारतीय मीडिया से कहा था कि उनका देश दक्षिण चीन सागर में भारत के निवेश का स्वागत करेगा.
इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लु कांग ने कहा कि चीन अपने पड़ोसी देशों के सामान्य द्विपक्षीय संबंधों के विकास पर कोई आपत्ति नहीं रखता है. लेकिन हम प्रासंगिक पार्टी का उपयोग करने का दृढ़ विरोध करते हैं, यह चीन के वैध अधिकारों का उल्लंघन करने और क्षेत्रीय शांति को प्रभावित करने का बहाना है.
टोन ने आगे कहा कि भारत और वियतनाम के बीच सहयोग का महत्वपूर्ण और प्रभावी क्षेत्र रक्षा सहयोग है और वियतनाम की रक्षा क्षमताओं में विस्तार में भारत के सहायक होने पर हमें कोई आपत्ति नहीं है.
बता दें कि चीन भारत के तेल और प्राकृतिक गैस निगम (ओएनजीसी) का विरोध कर रहा है जो दक्षिण चीन सागर (एससीएस) में कई वर्षों से वियतनाम द्वारा दावा किए गए कुओं में तेल की खोज कर रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!