गृह मंत्रालय ने लगा दी भारत-पाक सीमा की फर्जी तस्वीर

नई दिल्ली | संवाददाता: भारतीय गृह मंत्रालय द्वारा भारत-पाक सीमा पर फ्लड लाइट लगाने की फर्जी तस्वीर का विवाद थमता नज़र नहीं आ रहा है. इस बीच गृह मंत्रालय ने पूरे मामले की जांच के आदेश दिये हैं. सूत्रों का कहना है कि इस फर्जीवाड़े से गृहमंत्री राजनाथ सिंह बेहद नाराज़ हैं क्योंकि गृह मंत्रालय की इस हरकत को लेकर दुनिया भर में चर्चा हो रही है और सोशल मीडिया पर मोदी सरकार का मज़ाक उड़ाया जा रहा है. इधर इस तस्वीर से अधिकारी सकते में हैं और उनका दावा है कि पूरे मामले की जांच की जा रही है कि आखिर यह गड़बड़ी कैसे हुई.

गौरतलब है कि गृह मंत्रालय ने अपनी वार्षिक रिपोर्ट में स्पेन-मोरक्को सीमा की एक तस्वीर का इस्तेमाल किया है. जिसके बारे में रिपोर्ट में दावा किया गया था कि यह तस्वीर भारत-पाक की अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर लगी फ्लड लाइट है. बाद में यह बात सामने आई कि इस तस्वीर का भारत-पाक सीमा से कोई लेना-देना नहीं है. बल्कि यह तस्वीर स्पेन-मोरक्को सीमा की है. इस तस्वीर को 2006 में स्पेन के फ़ोटोग्राफ़र जेवियर मोयानो ने खींचा था.


गृह मंत्रालय की इस रिपोर्ट और तस्वीर के सार्वजनिक होने के बाद सोशल मीडिया में आलोचनाओं की बाढ़ आ गई. इसके बाद उन तस्वीरों को भी जारी किया गया, जो मूलतः दुनिया के दूसरे देशों की थीं और जिन्हें गुजरात का बता कर प्रचारित किया गया था. इस दौरान 2015 में बाढ़ के दौरान फोटोशाप करके सरकार द्वारा प्रचारित मोदी की दौरे की फर्जी तस्वीर भी फिर से सामने आई.

हालांकि भारत-पाक सीमा फर्जी तस्वीर के घटनाक्रम के बाद सरकारी अफसर कुछ भी कहने-बताने से बच रहे हैं. उनका कहना है कि यह गड़बड़ी कैसे हुई, इस बात की जांच की जा रही है. गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि अगर यह गलती हमसे हुई है तो हम इसके लिये जरुर माफी मांगेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!