कल्लुरी पुलिस मुख्यालय में अटैच

रायपुर | संवाददाता: बस्तर के आईजी शिवराम कल्लुरी पुलिस मुख्यालय रायपुर में अटैच किये गये हैं. एक दिन पहले ही छुट्टी से लौटे कल्लुरी ने डीजीपी से कहीं भी पदस्थापित करने की मांग की थी. उनकी मांग स्वीकार करते हुये उन्हें फिलहाल रायपुर स्थित पुलिस मुख्यालय में अटैच किया गया है. फिलहाल उनके कार्यभार की कोई खबर नहीं है.

पुलिस मुख्यालय सूत्रों का कहना है कि कल्लुरी को बस्तर से जबरन छुट्टी पर भेजे जाने के बाद केंद्र के कुछ शीर्ष लोगों ने राज्य सरकार से संपर्क कर एसआरपी कल्लुरी को वापस बुलाने का निर्देश दिया था. हालांकि कल्लुरी पहले ही कह चुके थे कि अगर बस्तर में फ्री हैंड मिलेगा, तभी वे वापस लौटेंगे. सूत्रों का कहना है कि कल्लुरी को कुछ दिन पुलिस मुख्यालय में रखने के बाद सरकार उन्हें फिर से बस्तर में पदस्थ कर सकती है. हालांकि सरकार की ओर से अबतक ऐसे संकेत नहीं मिले हैं.


लंबी छुट्टी पर भेजे गये बस्तर के आईजी एसआरपी कल्लूरी 6 दिन में ही लौट आये थे. सोमवार को जगदलपुर वापस लौटने के बाद उन्होंने एक संदेश भेज कर दावा किया था कि वे स्वस्थ हैं, इसलिये वे लौटे हैं. कल्लुरी के अनुसार चिकित्सकों ने उन्हें बताया है कि तत्काल उन्हें किसी प्रकार की ट्रीटमेंट की आवश्यकता नहीं है.

उन्होंने दावा किया था कि छत्तीसगढ़ के डीजीपी अमर नाथ उपाध्याय को अपनी मंशा से अवगत करवाते हुये अपनी स्वेच्छा से अन्यत्र कहीं भी पदस्थापित करने की माँग रखी है.

गौरतलब है कि लंबे समय से सामाजिक संगठनों समेत मानवाधिकार आयोग और कई शीर्ष सरकारी संगठनों के निशाने पर रहे कल्लुरी ने अपने अधिकारियों की सलाह पर पांच दिनों की छुट्टी का आवेदन दिया था. इसके बाद उन्हें जबरन बैक डेट में लंबी छुट्टी का आवेदन लिया गया और दावा ये किया गया कि कल्लुरी ने स्वास्थ्यगत कारणों से छुट्टी ली है. राज्य के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने भी कहा कि एसआरपी कल्लुरी की किडनी बदली जानी है, इसलिये उन्होंने छुट्टी ली है.

अब जबकि एसआरपी कल्लुरी छह दिनों में ही छुट्टी से लौट आयें हैं, बस्तर से लेकर राजधानी रायपुर तक अफवाहों का बाज़ार गर्म है. उनकी लंबी छुट्टी में जाने के बाद अग्नि नामक संगठन समेत उनके समर्थकों में जो गहरी निराशा छाई थी, अब फिर से वे सोशल मीडिया में सक्रिय हो गये हैं. अग्नि ने अब एक बार फिर से संगठन की बैठक भी बुलाई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!