21 अप्रैल के बाद लाकडाउन में छूट पर फ़ैसला

रायपुर | डेस्क: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव व रोकथाम के लिए लागू लॉकडाउन छत्तीसगढ़ में अभी जारी रहेगा. 21 अप्रैल को कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति की समीक्षा के बाद परिस्थितियों के अनुरूप निर्णय लिया जाएगा.

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन जिलों में कोरोना वायरस संक्रमण पर नियंत्रण होगा उन्हें गाइडलाइंस के मुताबिक छूट प्रदान की जायेगी.


मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने यह संकल्प लिया है कि इस संकट की घड़ी में हम छत्तीसगढ़ में किसी को भूखा नहीं सोने देंगे. राज्य में 56 लाख राशन कार्डधारियों को निःशुल्क राशन देने का फैसला किया गया. इनमें से लगभग सभी लोगों को लगभग दो माह का राशन निःशुल्क प्रदान किया गया है. नये राशन कार्ड बनाने का कार्य भी युद्धस्तर पर चल रहा है. राज्य सरकार ने यह भी तय किया है कि ऐसे जरूरतमंद लोग जिनके पास वर्तमान में किसी कारणवश राशनकार्ड नहीं हैं, उन्हें भी एक माह का राशन निःशुल्क प्रदान किया जायेगा.

श्री बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ में अन्य राज्यों से श्रमिक या कामगार आये हैं और यहाँ के विकास में, निर्माण में लगे हैं. उन्हें अपने घर जाने के लिए परेशान होने की जरूरत नहीं है. जब तक लॉक डाउन रहता है, तब तक छत्तीसगढ़ को ही आप अपना घर समझें. ऐसे सभी श्रमिकों के भोजन और अस्थायी आवास का पूरा प्रबंध राज्य सरकार कर रही है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ के जो श्रमिक भाई-बहन उत्तर भारत, दिल्ली, महाराष्ट्र, तेलंगाना, आंध्रप्रदेश या अन्य राज्यों में है, उन सभी से आग्रह है कि वो वहीं पर रहें. वहां की राज्य सरकारों से हमारी चर्चा लगातार हो रही है, सभी के रहने, भोजन और आवास के सभी प्रबंध किए जा रहे हैं. श्रमिकों की सहायता के लिए हेल्पलाइन की व्यवस्था की गई है और नोडल अधिकारी भी नियुक्त किए गए हैं, जो लगातार ऐसे लोगों की मदद के लिए संबंधित राज्य सरकारों के सम्पर्क में हैं. यहां रह रहे परिवारजनों के लिए भी चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है, उनका भी ख्याल रखा जा रहा है.

भूपेश बघेल ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के टेस्ट के लिए एम्स रायपुर और जगदलपुर के अलावा अब मेडिकल कॉलेज रायपुर में भी सैम्पल टेस्ट की सुविधा प्रारम्भ की गई है. इससे ज्यादा टेस्ट करने में मदद मिलेगी. संकट के इस समय में अनेक स्वयंसेवी संस्थाएं और सामाजिक संगठन बढ़-चढ़कर लोगों की मदद कर रहे हैं. इन संस्थाओं का सहयोग अनुकरणीय और प्रेरणादायक है.

रायपुर में रविवार तक कर्फ्यू जैसे हालात

इस बीच रायपुर में गुरुवार शाम से 19 अप्रैल तक लगातार कर्फ्यू जैसी स्थिति रहेगी. कलेक्टर रायपुर डॉ. एस भारतीदासन ने 16 अप्रैल गुरुवार की शाम पांच बजे से 19 अप्रैल रविवार की शाम पांच बजे तक के लिए रायपुर जिले में अति आवश्यक प्रतिष्ठानों को छोड़कर शेष गतिविधियों के संचालन पर रोक लगाने का आदेश दिया है. इस दौरान सभी तरह की दुकानें बंद रहेंगी. इसमें सब्जी और राशन दुकानें भी शामिल हैं.

गौरतलब है कि इससे पहले भी पांच और छह अप्रैल को कर्फ्यू जैसी स्थिति लागू की गई थी. माना जा रहा है कि लोगों की आवाजाही को रोकने के उद्देश्य से सरकार ने यह फ़ैसला लिया है.

इन 72 घंटों के दौरान सिर्फ मेडिकल दुकान, मिल्क पार्लर, पेट्रोल पंप, एलपीजी गैस सिलेंडर की दुकान और ऑनलाइन होम डिलीवरी सेवाएं खुली रहेंगी. इस अवधि में अर्थात 72 घंटे अनावश्यक रूप से घूमने और आने-जाने पर भी प्रतिबंध रहेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!