नक्सली ब्लास्ट 50% बढ़े हैं- NBDC

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में नक्सली द्वारा ब्लास्ट 50% बढ़ा है. राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड्स के एनबीडीसी के ‘बमशेल’ शीर्षक से प्रकाशित वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार छत्तीसगढ़ में साल 2016 में पिछले साल 2015 की तुलना में माओवादियों द्वारा किये गये आईईडी ब्लास्ट 50 फीसदी बढ़े हैं. जबकि आंध्रप्रदेश में इसी समय में माओवादियों द्वारा किये गये ब्लास्ट 5 गुना बढ़े हैं. ओडिशा में माओवादियों द्वारा आईईडी ब्लास्ट 100 फीसदी बढ़े हैं. केवल बिहार तथा झारखंड में माओवादियों द्वारा किये गये आईईडी ब्लास्ट में साल 2015 की तुलना में कमी आई है.

एनबीडीसी की वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार देश के माओवादी प्रभावित इलाकों में पिछले साल की तुलना में आईईडी ब्लास्ट में 21 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है तथा इससे हताहत होने वालों की संक्या 60 फीसदी बढ़ी है. इस रिपोर्ट के अनुसार देश में जितने भी आईईडी ब्लास्ट होते हैं उनमें से 65 फीसदी माओवादी प्रभावित इलाकों में होते हैं.


नेशनल सिक्युरिटी गार्ड्स के नेशनल बम डाटा सेंटर के अऩुसार इन इलाकों में स्थिति पहले के समान ही खराब बनी हुई है तथा सुरक्षा बलों एवं आम नागरिकों को निशाना बनाया जा रहा है.

एनबीडीसी की रिपोर्ट के मुताबिक उत्तर-पूर्व में आईईडी ब्लास्ट की घटनाओं में कमी आई है. उत्तर-पूर्व में साल 2016 में 59 आईईडी ब्लास्ट की घटनाये हुई हैं जबकि पिछले साल 2015 में 72 ब्लास्ट हुये थे. इस तरह से आईईडी ब्लास्ट में 73 फईसदी की गिरावट दर्ज की गई है.

गौरतलब है कि इसी रिपोर्ट के अनुसार साल 2016 में भारत में इराक तथा अफगानिस्तान से भी ज्यादा ब्लास्ट हुये हैं. इस रिपोर्ट की माने तो भारत में साल 2016 में 406 ब्लास्ट हुये हैं. जबकि इराक में 221, पाकिस्तान में 161, अफगानिस्तान में 132, तुर्की में 92, थाईलैंड में 71, दक्षिण अफ्रीका में 63, सीरिया में 56, मिस्र में 42 और बांग्लादेश में 29 ब्लास्ट हुये हैं.

उल्लेखनीय है कि एनबीडीसी ब्लास्ट के बाद नोडल जांच विभाग के तौर पर एनएसजी के तहत काम करता है. रिपोर्ट में वैश्विक आंकड़े को लेकर सचेत होने के स्वर हैं और इसमें कहा गया है कि केंद्र ने ये आंकड़े ‘खुले स्रोतों’ से हासिल किये.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!