कोरोना को लेकर रहें सावधान-मोदी

नई दिल्ली | डेस्क: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को आगाह किया है कि कोरोना वायरस अब भी मौजूद है और इसके रूपांतरण की संभावना बनी हुई है. उन्होंने वायरस से मुक़ाबले के लिए तैयार रहने की अपील की है.

‘कोविड-19 फ्रंटलाइन वर्कर्स’ के लिए क्रैश कोर्स का एलान करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस ने ‘सभी के सामर्थ्य की सीमाओं को बार-बार परखा है.”


उन्होंने कहा, “कोरोना की दूसरी वेव में हम लोगों ने देखा कि कोरोना वायरस का बार-बार बदलता स्वरूप किस तरह की चुनौतियां हमारे सामने ला सकता है.ये वायरस हमारे बीच अभी भी है और इसके म्यूटेड होने की संभावना बनी हुई है. इसलिए हर इलाज, हर सावधानी के साथ-साथ आने वाली चुनौतियों से निपटने के लिए हमें देश की तैयारियों को और ज़्यादा बढ़ाना होगा.”

बीबीसी के अनुसार कोरोना वायरस की दूसरी लहर के दौरान भारत की तैयारियों पर लगातार सवाल उठते रहे. कोरोना के कुल मामलों के मामले में भारत दुनिया में दूसरे नंबर पर है.

भारत अब तक दो करोड़ 97 लाख से ज़्यादा लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं. इनमें से दो करोड़ 85 लाख से ज़्यादा लोगों ने बीमारी को मात दी है. तीन लाख 83 लाख से ज़्यादा लोगों की मौत हुई जबकि करीब सात लाख 98 हज़ार एक्टिव मामले हैं.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि दूसरे वेव के दौरान जो अनुभव मिले उनके आधार पर कोरोना वायरस से मुक़ाबले के लिए तैयारी को बढ़ाना होगा.

उन्होंने बताया कि देश में ‘फ्रंटलाइन कोरोना वारियर्स तैयार करने का महाभियान’ शुरू हो रहा है. इसमें एक लाख युवाओं को ट्रेंड करने का लक्ष्य रखा गया है.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ये कोर्स दो से तीन महीने का होगा और ट्रेनिंग लेने वाले लोग तुरंत काम करना शुरू कर देंगे.

उन्होंने कहा, “कोरोना से लड़ रही वर्तमान फोर्स को सपोर्ट करने के लिए देश में करीब 1 लाख युवाओं की ट्रेनिंग का लक्ष्य रखा गया है.इससे जुड़ा कोर्स दो-तीन महीने में ही पूरा हो जाएगा. इस अभियान से हेल्थ सेक्टर की फ्रंटलाइन फोर्स को नई ऊर्जा भी मिलेगी और युवाओं को रोजगार के नए अवसर भी मिलेंगे.”

प्रधानमंत्री मोदी ने टीकाकरण की भी चर्चा की और ज़मीनी स्तर पर टीकाकरण अभियान में जुटे कार्यकर्ताओं की सराहना की.

उन्होंने कहा, “आशा, एएनएम, आंगनवाड़ी और गांव-गांव में डिस्पेंसरियों में तैनात स्वास्थ्यकर्मी हमारे हेल्थ सेक्टर के बहुत मजबूत स्तंभ हैं. मैं इनकी प्रशंसा करता हूं, सराहना करता हूं. 21 जून से देश में टीकाकरण अभियान का विस्तार हो रहा है, उसे भी ये लोग नई ताकत देंगे.”

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश में अब तक 26.8 करोड़ लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा चुका है. सरकार ने दिसंबर तक सभी को वैक्सीन देने का लक्ष्य रखा है. हालांकि, विपक्ष सरकार के दावों पर लगातार सवाल उठा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!