निगम मंडल में नियुक्तियों पर संशय बरकरार

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के निगम मंडल में ढाई साल बाद भी नियुक्तियां नहीं हो पाई हैं. इन निगम मंडलों में नियुक्ति नहीं होने से व्यवस्था चौपट हो गई है.

कई निगम, मंडलों में बिजली पानी बंद है तो कहीं कर्मचारियों को तनख्वाह के लाले पड़ रहे हैं. सारा कामकाज प्रभारियों के भरोसे चल रहा है.


इन निगम-मंडलों में नियुक्ति के लिए बड़ी संख्या में कांग्रेस पार्टी में दावेदार हैं लेकिन अज्ञात कारणों से पिछले ढाई सालों से नियुक्तियों का मामला टाला गया. अब हालत ये है कि कई कांग्रेसी दावेदारों ने अपने को पीछे कर लिया है. माना जा रहा है कि ढाई साल बाद अगर नियुक्तियां हो भी गईं तो इनके हिस्से महज डेढ़ साल ही काम करने को होंगे और उसके बाद चुनाव की तैयारी शुरु हो जाएगी.

अब जबकि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस पार्टी की सरकार बने ढाई साल होने को आये, तब भी निगम मंडलों में नियुक्ति को लेकर पार्टी के नेता अलग-अलग राय रख रहे हैं.

मंगलवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने फिर भरोसा दिलाया कि बचे हुए निगम मंडल को लेकर विचार विमर्श हुआ है. पुनिया जी से भी चर्चा हुई है. प्रदेश अध्यक्ष से भी इस मामले में बात हुई है. इसमें से कुछ नियुक्तियां जल्दी होंगी कुछ नियुक्तियां बाद में होंगी.

कांग्रेस पार्टी के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने सोमवार को कहा था कि फिलहाल निगम मंडलों में किसी तरह की कोई नियुक्ति नहीं होने जा रही. उन्होंने कहा कि एक बैच का अपॉइंटमेंट हो चुका हैं. बाकी की प्रक्रिया चल रही है. यहां से अंतिम रूप लेने के बाद लिस्ट राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से अनुमोदन के लिए प्रक्रिया में लंबित है. उसमें समय लग सकता है, जल्दी भी हो सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!