नरोधा मालनी रायपुर में

रायपुर | संवाददाता: नवाज़ शरीफ़ के सामने गायत्री मंत्र गाने वाली लड़की नरोधा मालनी रायपुर आई हुई हैं. छत्तीसगढ़ के रायपुर स्थित सिंधी समाज के तीर्थस्थल शदाणी दरबार के एक आयोजन में भाग लेने वे आई हुई हैं. पिछले सप्ताह पाकिस्तान के कराची में वहां के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ के सामने गायत्री मंत्र गाने के बाद वह चर्चा में आ गई हैं. नरोधा मालनी को पाकिस्तान की पहली हिंदू गायिका माना जाता है. नरोधा का कहना है कि वह अफने हरेक कार्यक्रम की शुरुआत गायत्री मंत्र से करती हैं. यह महज संयोग था कि उस आयोजन में नवाज़ शरीफ़ भी मौजूद थे.

Gayatri Mantra In Pakistan In Presence Of PM Nawaz Sharif By Narodha Malni


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नवाज शरीफ ने कार्यक्रम के दौरान कहा कि बतौर प्रधानमंत्री सभी धर्मों के लोगों की सेवा करना उनका फर्ज है, अल्लाह किसी शासक से यह प्रश्‍न नहीं करेगा कि उसने किसी एक मजहब के लोगों के लिए क्या किया? वो मुझ जैसे लोगों से पूछेगा कि उसकी कायनात को हमने कैसे बेहतर बनाने का काम किया?

कराची से लगे हुए गडाप में हेल्थ टेक्निशियन के पद पर काम करने वाले नरोधा के पिता चंदीराम और उनकी मां ने उन्हें संगीत के लिए प्रेरित किया. नरोधा ने शौकिया गाना शुरू किया और फिर संगीत की शिक्षा भी ली. पाकिस्तान के अलग-अलग हिस्सों में आयोजित संगीत प्रतियोगिताओं में भाग लेकर अपनी पहचान बनाने वाली नरोधा सिंधी, उर्दू, पंजाबी समेत कई भाषाओं में गाती हैं.

नरोधा कहती हैं, “मेरे चाहने वाले जब मुझे सिंध की कोयल और सिंध की लता जैसी उपाधियों से नवाज़ते हैं तो मुझे लगता है कि इससे अधिक कुछ नहीं चाहिए. मेरी ज़िंदगी में संगीत रचा-बसा है और संगीत में मेरी ज़िंदगी. मेरे मुल्क़ पाकिस्तान में मुझे जो प्यार मिलता है, उसको मैं लफ़्ज़ों में बयान नहीं कर सकती.”

नरोधा कहती हैं, “पाकिस्तान और हिंदुस्तान के कलाकारों को आपस में और अधिक मिलजुल कर काम करने की ज़रूरत है. एक दूसरे के साथ संगीत में कई प्रयोग किए जा सकते हैं, जो बेमिसाल साबित होंगे.”

यह भी देखें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!