छत्तीसगढ़ में आत्महत्या करने वालों में गरीब सर्वाधिक

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में आत्महत्या करने वाले अधिकांश लोग बेहद गरीब हैं. नेशनल क्राइम रिसर्च ब्यूरो ने आत्महत्या के जो ताज़ा आंकड़े जारी किये हैं, उसके अनुसार राज्य में 2016 में कुल 6705 लोगों ने आत्महत्या की थी.

अगर आर्थिक स्थिति की बात करें तो आत्महत्या करने वाले इन 6705 लोगों में से 4032 ऐसे लोग थे, जिनकी सालाना आय एक लाख रुपये से भी कम थी.


एक लाख रुपये से पांच लाख रुपये की वार्षिक आय वाले 1562 लोग थे. वहीं पांच से दस लाख रुपये तक की आय वाले आत्महत्या करने वाले लोगों की संख्या 1102 थी.

आंकड़े बताते हैं कि छत्तीसगढ़ में 2016 में जितने लोगों ने आत्महत्या की, उनमें 9 लोग ही ऐसे थे, जिनकी वार्षिक आय 10 लाख रुपये से अधिक थी. इनमें 7 पुरुष और 2 महिलायें शामिल हैं.

आत्महत्या करने वालों की राष्ट्रीय स्तर पर स्थिति देखें तो पता चलता है कि 2016 में देश में कुल 1,31,008 लोगों ने आत्महत्या की. इनमें से 92,732 लोगों की आय 1 लाख रुपये से भी कम थी.

अगर अधिक आमदनी वालों की आत्महत्या के आंकड़े देखें तो तेलंगाना इस आंकड़े में सबसे आगे है. 2016 में तेलंगाना में 2701 महिलाओं समेत कुल 9019 लोगों ने आत्महत्या की थी. इनमें 858 लोग ऐसे थे, जिनकी वार्षिक आमदनी 10 लाख रुपये से अधिक थी. इनमें 53 महिलायें भी शामिल हैं. पूरे देश भर में ऐसे लोगों की संख्या 1004 है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!