प्रोफेसर यशपाल का निधन

नई दिल्ली | संवाददाता: देश के जाने-माने शिक्षाविद प्रोफेसर यशपाल का मंगलवार को निधन हो गया. भारत की शिक्षा व्यवस्था में महत्वपूर्ण हस्तक्षेप करने वाले प्रोफेसर यशपाल 90 वर्ष के थे. प्रोफेसर यशपाल को साइंस और इंजिनियरिंग के क्षेत्र में योगदान के लिए जाना जाता है.

छत्तीसगढ़ में जब अजीत जोगी के कार्यकाल में रातों-रात एक-एक कमरों में कई विश्वविद्यालय खुल गये थे, तब प्रोफेसर यशपाल की ही याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने इन विश्वविद्यालयों को बंद करने का निर्देश जारी किया था.


देश के बड़े वैज्ञानिकों में शुमार प्रोफेसर यशपाल का जन्म 26 नवंबर 1926 को हरियाणा में हुआ था. वह 1983-84 में योजना आयोग के मुख्य सलाहकार रहे.

1986 से 1991 तक यूजीसी के चेयरमैन रहे थे. उन्होंने उच्च शिक्षा के लिए बनी कमेटी की अगुवाई की थी.

उन्हें 1976 में पद्मभूषण सम्मान मिला था और 2013 में पद्मविभूषण मिला था. 2007 से 2012 तक जेएनयू के चांसलर रहे थे. वह दूरदर्शन पर विज्ञान से जुड़े कार्यक्रम ‘टर्निंग प्वाइंट’ के एंकर रहे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!