दैनिक भास्कर: अखबार ने छापा इसलिए अखबार पर छापा

भोपाल | संवाददाता: आयकर विभाग ने गुरुवार को दैनिक भास्कर के कई कार्यालयों पर एक साथ छापामारी की है. तड़के आयकर विभाग की टीम ने भास्कर अखबार के दिल्ली, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात और राजस्थान दफ्तर को अपने कब्ज़े में लिया और कार्रवाई शुरु की.

दैनिक भास्कर प्रबंधन का कहना है कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान देश के सामने सरकारी खामियों की असल तस्वीर रखने वाले दैनिक भास्कर ग्रुप पर सरकार ने दबिश डाली है.


प्रबंधन के अनुसार “दफ्तरों में मौजूद कर्मचारियों के मोबाइल जब्त कर लिए गए हैं और उन्हें बाहर नहीं जाने दिया जा रहा है. नाइट शिफ्ट के लोगों को भी दफ्तर से बाहर जाने से रोक दिया गया है. रेड में शामिल अधिकारियों का कहना है कि वो इनके प्रोसेस का हिस्सा है और पंचनामा होने के बाद इन्हें जाने दिया जा रहा है. डिजिटल की नाइट टीम दोपहर साढ़े बारह बजे रिलीज की गई.

भोपाल और अहमदाबाद समेत जहां-जहां छापेमारी हुई है वहां भास्कर की डिजिटल विंग में कई महिला कर्मचारी भी काम पर मौजूद हैं. टीम के आला अधिकारियों ने अब तक इस कार्रवाई का कोई कारण साफ नहीं किया है.

दूसरी लहर के दौरान 6 महीने तक भास्कर ने देश और कोरोना प्रभावित प्रमुख राज्यों में असल हालात को पूरे दमखम के साथ देश के सामने रखा है. गंगा में लाशें बहाए जाने का मामला हो या फिर कोरोना से होने वाली मौतों को छिपाने का खेल, भास्कर ने निडर पत्रकारिता दिखाई और जनता के सामने सच ही रखा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!