फोरलेन के लिये कटे 4976 पेड़

रायपुर | संवाददाता: रायपुर-बिलासपुर फोरलेन सड़क के लिये 4976 पेड़ काटे गये हैं. जिसमें रायपुर वृत से 2461 पेड़ तथा बिलासपुर वृत से 2515 पेड़ काटे गये हैं. प्रस्तुत आंकड़ा अब तक काटे गये पेड़ों का है. इन पेड़ों को काटने के लिये शासन द्वारा 85 लाख 21 हजार 573 रुपये खर्च किये गये हैं. गौरतलब है कि रायपुर से बिलासपुर तक 126 किलोमीटर सड़क निकट भविष्य में फोर और सिक्सलेन में तब्दील हो जायेगी. यह सड़क केंद्र के नेशनल हाईवे डेवलपमेंट प्रोजेक्ट-4 में शामिल है.

विकास की अंधी दौड़ में हर कोई शामिल है. विकास के नाम पर पर्यावरण को जो क्षति पहुंचती है उसकी भरपाई कैसे हो यह लाख टके का सवाल है. हालांकि, इसके निर्माण के पहले जो प्रारंभिक रिपोर्ट तैयार की गई थी उसमें दावे किये गये थे इससे 10 गुना ज्यादा पौधे रोपे जायेंगे. अब यह सबकों मालूम है कि सरकार के द्वारा रोपे गये पौधों का क्या हश्र होता है. कौन उनकी देखभाल करता है तथा कौन उसमें पानी डालता है.


यदि रायपुर-बिलासपुर फोरलेन के लिए वर्तमान में सड़क के दोनों ओर कतारबद्ध ढंग से खड़े वृक्षों को अगर डिवाइडर का रूप दे दिया जाता और उन्हें यह मानक मान लिया जाता तो इससे हजारों पेड़ों की बलि रूक जाती.

रायपुर-बिलासपुर फोरलेन के लिये पिछले 2 वर्ष में जनवरी 2017 तक काटे गये कुछ पेड़ों की संख्या-

अर्जुन- 747
बबूल- 444
नीम- 270
पलाश- 195
शीशम- 161
इमली- 161
गंगाइमली- 115
गुलमोहर- 114
नीलगिरी- 48
पीपल- 24
आम- 21
सागौन- 12
महुआ- 10
बेल- 6
बेर- 4
अशोक- 2
बरगद- 2
महानीम- 2
आंवला- 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!