नक्सली कायर हैं- रमन

रायपुर | संवाददाता: मुख्यमंत्री रमन सिंह ने नक्सली हमले की कड़ी निंदा की है. उन्होंने शनिवार सवेरे नक्सलियों द्वारा छुपकर सीआरपीएफ जवानों पर हमला करने को उऩकी कायराना हरकत करार दिया है. गौरतलब है कि इस हमले में मौके पर ही 11 सीआरपीएफ जवान तथा बाद में अस्पताल में 1 सीआरपीएफ जवान की मौत हो गई है. घटना बस्तर संभाग के सुकमा जिले की है. वारदात की सूचना मिलते ही मुख्यमंत्री ने सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह को टेलीफोन पर इसकी जानकारी दी.

इसके बाद मुख्यमंत्री रमन सिंह ने यहां अपने निवास कार्यालय में गृह विभाग और राज्य पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों की आपात बैठक लेकर स्थिति की समीक्षा की. उन्होंने राज्य पुलिस के अधिकारियों को केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के साथ मिलकर सुकमा जिले में और सम्पूर्ण बस्तर संभाग के नक्सल प्रभावित इलाकों में सतर्कता बढ़ाने और इस वारदात के अपराधियों का युद्धस्तर पर पता लगाने तथा उन्हें गिरफ्तार करने के निर्देश दिये.


मुख्यमंत्री रमन सिंह ने इस हमले में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुये उनके शोक संतप्त परिवारों के प्रति अपनी संवेदना और सहानुभूति प्रकट की है. डॉ. सिंह ने कहा है कि शहीद जवानों के पारिवारिक शोक की इस घड़ी में हम सब उनके साथ हैं.

उन्होंने कहा- आदिवासी बहुल बस्तर संभाग के अंतिम छोर के जिले सुकमा में सीआरपीएफ के जवान ग्राम इंजरम-भेज्जी की निर्माणाधीन सड़क के निर्माण कार्यों को सुरक्षा देने के लिए रोड ओपनिंग की ड्यूटी पर निकले थे. नक्सलियों ने उन पर छुपकर हमला किया. हमारे बहादुर जवानों ने उनके हमले का अदम्य साहस और वीरता के साथ मुकाबला किया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि सीआरपीएफ के जवानों ने लोकतंत्र की रक्षा और बस्तर अंचल तथा सुकमा जिले के विकास के लिए कर्त्तव्य पालन करते हुये अपने प्राणों की आहुति दी है. उनका यह बलिदान व्यर्थ नहीं जायेगा. सुरक्षा बलों के लगातार बढ़ते दबाव की वजह से बस्तर संभाग में नक्सलियों के पैर उखड़ने लगे हैं. इसके फलस्वरूप वे बौखला गये हैं और बौखलाहट में इस प्रकार की हिंसक वारदात कर रहे हैं, जो उनकी कायरतापूर्ण मानसिकता का परिचायक बताया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!