गोबर ख़रीदी पर भूपेश बघेल के साथ आया आरएसएस

रायपुर | संवाददाता: आरएसएस ने छत्तीसगढ़ में कांग्रेस पार्टी की सरकार के गोबर ख़रीदने के फ़ैसले के लिये मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का अभिनंदन किया है. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संगठन गौ ग्राम स्वावलंबन अभियान की ओर से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मुलाकात कर, गोबर ख़रीदने के सरकार के फैसले का स्वागत किया है और इसके लिए आभार जताया है.

मंगलवार को मुख्यमंत्री निवास में आरएसएस के संगठन गौ ग्राम स्वावलंबन अभियान के एक प्रतिनिधि मंडल ने भूपेश बघेल से मुलाक़ात की. प्रतिनिधियों ने कहा कि राज्य सरकार के गोबर खरीदी के फैसले से समाज स्वावलंबन की दिशा में आगे बढ़ेगा.


पिछले साल सरकार की ओर से ‘नरवा गरुवा घरुवा बारी’ योजना के बाद आरएसएस की ओर से कृष्ण जन्माष्टमी पर एक पर्चा भी जारी किया गया था. इस पर्चे की मांगों को दोहराते हुए समिति की ओर से एक ज्ञापन भी मुख्यमंत्री को सौंपा गया, जिसमें गोबर के साथ गौ मूत्र और वर्मी कंपोस्ट भी सरकार की ओर से ख़रीदे जाने की मांग की गई है.

इस ज्ञापन में आरएसएस के छत्तीसगढ़ प्रमुख बिसराराम यादव का नाम है. जबकि समिति की ओर से भुवनेश्वर यादव का नाम शामिल है. प्रतिनिधिमंडल में सुबोध राठी भी शामिल थे.

कांग्रेस ने साधा निशाना

आरएसएस के गौ ग्राम स्वावलंबन अभियान द्वारा गोबर खरीदी का स्वागत करने पर प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा नेता अपनी राजनीति की सीख संघ से ही लेते हैं और गोबर खरीदी के मामले में विरोध करने से पहले एक बार संघ से पूछ लेना चाहिए.

कांग्रेस नेता त्रिवेदी ने कहा है कि और संघ को भी चाहिए कि वे भाजपा नेताओं को थोड़ा बौद्धिक देकर बताएं कि गोबर ख़रीदने के सरकार के फ़ैसले का स्वागत क्यों करना चाहिए?

शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि भाजपा के नेताओं ने सत्ता में 15 वर्ष रहते हुए गाय को सिर्फ वोट मांगने के लिए उपयोग किया और जब भूपेश सरकार ने ‘नरवा गरुवा घुरुवा बारी’ योजना लागू की तब से उन्हें तकलीफ़ हो रही है. अब जब सरकार ने गोबर खरीदने की घोषणा की है तो भाजपा के नेताओं की तकलीफ़ और बढ़ गई है. पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर तो सारी सीमाओं को लांघकर दुष्प्रचार करने में लग गए हैं और राजनांदगांव विधायक रमन सिंह भी उनका समर्थन करते नजर आये.

पुनः अपडेट-08 जुलाई 2020 16:44 IST

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!