मप्र: सिमी के फरार 8 आतंकी ढ़ेर

भोपाल | समाचार डेस्क: भोपाल सेन्ट्रल जेल से फरार 8 आतंकी मार गिराये गये हैं. जेल तोड़ने की घटना 30-31 अक्टूबर के रात की है. अभी-अभी मिली सूचना के अनुसार जेल से 10 किलोमीटर दूर आचारपुरा गांव में सूचना मिलने पर सिमी के इन 8 कथित आतंकियों को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया गया है. मुज़ीब शेख ने जेल ब्रेक की प्लानिंग बनाई थी.

पुलिस ने इनके नाम शेख मुजीब, माजिद, ख़ालिद, अकील खिलजी, ज़ाकिर हुसैन, शेख महबूब, मोहम्मद सालिक और अमजद बताये हैं.


भोपाल के आईजी योगेश चौधरी ने बीबीसी को बताया, ”ये एक गंभीर मामला था, लेकिन पुलिस और एसटीएफ ने मुस्तैदी दिखाई. हमें सुराग़ मिला था, जिसके आधार पर इन आंतकियों को ईंटखेड़ी के पास घेरा गया. इसके बाद दोनों पक्षों के बीच गोलीबारी हुई.”

बीबीसी द्वारा ये पूछने पर कि क्या फ़रार हुए इन क़ैदियों के पास हथियार थे, चौधरी ने कहा, ”हां, इनके पास हथियार थे. उन्होंने गोलियां चलाईं, क्रॉसफ़ायर हुआ और पुलिस ने आत्मरक्षा में गलियां चलाई और मुठभेड़ में इनकी मौत हो गई.”

मिली जानकारी के अनुसार सिमी के आतंकियों ने खाने की स्टील की प्लेट से चाकूनुमा हथियार बनाया था. इस हथियार से प्रधान आरक्षक रमाशंकर का गला रेतकर आतंकियों ने हत्या कर दी. इसके बाद ओढ़ने के लिये दी गई चादर से बनी रस्सी से जेल की दीवार फांदकर आतंकी फरार हो गये थे.

डीआईजी रमन सिंह ने बीबीसी को बताया, “ये घटना तड़के दो और तीन बजे के बीच हुई. ये लोग पुलिस आरक्षक राधेश्याम का गला रेत कर भागे हैं.”

मध्यप्रदेश के गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह ने इस मामले की जांच के आदेश दिए हैं. समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ गृह मंत्रालय ने इस मामले पर मध्य प्रदेश सरकार से रिर्पोट तलब की है.

स्टूडेंट्स इस्लामिक मूवमेंट ऑफ़ इंडिया यानी सिमी एक प्रतिबंधित संगठन है जिस पर भारत सरकार इस्लामी कट्टरपंथ फैलाने और कई अन्य गंभीर आरोप लगाती है.

जेल प्रशासन ने जेल ब्रेक मामले में 4 को सस्पेंड कर दिया गया है. उल्लेखनीय है कि भोपाल सेन्ट्रल जेल के पीछे ही आर्मी का इलाका है.

भोपाल में जेल ब्रेक की घटना के बाद छत्तीसगढ़ में जीडी जेल ने सभी जेलों की सुरक्षा बढ़ाने हाई अलर्ट जारी कर दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!