सिग्नल रेड, दौड़ती रही दुरंतो और मालगाड़ी

बिलासपुर । संवाददाता: दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में बुधवार की शाम दो बड़ी रेल दुर्घटनाएं होते-होते बच गईं. पहला मामला लांग हॉल (दो मालगाड़ियों को जोड़कर बनाई गई एक ट्रेन) का है, जो बिलासपुर मंडल के गतौरा और जयरामनगर स्टेशन के बीच की आईबी सिग्नल को पार करके दौड़ती रही. दूसरा मामला दुरंतो एक्सप्रेस का है. यह ट्रेन रायपुर डिवीजन के दाधापारा स्टेशन में सिग्नल रेड होने के बाद भी आगे चली गई.

इस मालगाड़ी को बिजली की सप्लाई बंद करके रोका गया. जबकि दुरंतो एक्सप्रेस के ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक के जिरिए ट्रेन पर कंट्रोल पाया. सिग्नल ओवरशूट की दो घटनाओं से जोनल रेलवे में हड़कंप मचा हुआ है.


रेलवे सूत्रों के मुताबिक कोयला ढोने वाली वैगनों (एन बाक्स) वाली लॉग हॉल बिलासपुर से कोरबा के लिए रवाना हुई थी. शाम के 6 बजे ट्रेन गतौरा स्टेशन को पार करके जयरामनगर पहुंचने वाली थी. स्टेशन के पहले सिग्नल (आईबी) है, जो कि रेड थी. ट्रेन सिग्नल पर नहीं रूकी और आगे बढ़ती रही. गतौरा स्टेशन मास्टर ने अपने पैनल बोर्ड में देखा कि ट्रेन रूकने के बजाय आगे बढ़ रही है.

उसने इसकी सूचना जयरामनगर स्टेशन मास्टर के अलावा बिलासपुर स्थित कंट्रोल रूम को दी. कंट्रोल रूम से बिजली की सप्लाई बंद की गई. हालांकि तब तक ड्राइवर को भी गलती का अहसास हो गया था. उसने इमरजेंसी ब्रेक लाकर ट्रेन रोकने की कोशिश की. इधर बिजली की सप्लाई भी बंद थी, लिहाजा मालगाड़ी समय रहते ठहर गई. बिलासपुर मंडल मामले की जांच करा रहा है.

सिग्नल ओवरशूट की दूसरी घटना ठीक 4 मिनट बाद यानी शाम 6:04 मिनट पर दाधापारा स्टेशन में घटी. हावड़ा से मुंबई जाने वाली दुरंतो (12262) एक्सप्रेस बिलासपुर स्टेशन से शाम 5:45 बजे रवाना हुई. ट्रेन मिडिल लाइन से आगे बढ़ रही थी. दाधापारा स्टेशन पर सिग्नल (स्टाटर) रेड थी.

ड्राइवर ट्रेन की रफ्तार धीमी करने के बजाय आगे बढ़ता रहा और रेड सिग्नल को पार कर गया. इंजन और पीछे की दो बोगियों के सिग्नल पार कर जाने की सूचना है. सूत्रों ने बताया कि दाधापारा स्टेशन में इंटरसिटी एक्सप्रेस का इंजन फेल हुआ था, जो कि शाम 6 बजे रवाना हुई थी. इसके कारण दुरंतो एक्सप्रेस को रेड सिग्नल दिया गया था.

चूंकि दुरंतो एक्सप्रेस पर रेलवे बोर्ड से नजर रखी जाती है, लिहाजा अफसरों के होश उड़ गए. ट्रेन को मौके पर 35 मिनट खड़ा रखा गया. ऐसे मामले में ट्रेन ड्राइवरों को तत्काल बदलने का नियम है. मौके पर दूसरे ड्राइवर की व्यवस्था नहीं थी, लिहाजा दाधापारा स्टेशन मास्टर को ओवरशूट करने वाले ड्राइवरों के साथ दगौरी स्टेशन तक भेजा गया. पीछे चल रही साउथ बिहार एक्सप्रेस से दूसरा क्रू (चालक दल) दगौरी भेजा गया. रायपुर डीआरएम कौशल किशोर ने घटना की पुष्टि करते हुए मामले की जोनल लेवल पर इंक्वायरी होने की बात कही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!