मोदी का पुराना वीडियो बना कवच

नई दिल्ली | विशेष संवाददाता: यूपी भाजपा ने पीएम मोदी का पुराना वीडियो जारी किया. शुक्रवार को संघ के प्रचार मनमोहन वैद्य द्वारा आरक्षण पर दिये बयान के बाद शनिवार को उत्तरप्रदेश भाजपा ने सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री मोदी के पुराने वीडियो को अपलोड किया है. पिछले साल मार्च महीने में प्रधानमंत्री मोदी ने आरक्षण पर अपनी पार्टी के रुख को रखा था. जिसमें उन्होंने कहा था कि बाजपेयी जी की सरकार के समय भी आरक्षण को लेकर विपक्षी दलों द्वारा आरक्षण के मुद्दे पर गांव-गांव तक में हल्ला मचाया गया था.

उन्होंने भाजपा शासित राज्यों का उदाहरण देकर बताया था कि दलित, पीड़ित, ट्राइबल के आरक्षण को खरोंच तक नहीं आने दी है. उत्तरप्रदेश भाजपा ने प्रधानमंत्री मोदी के इस 20 मार्च 2016 के वीडियो को पेश करके आरक्षण के मुद्दे पर सफाई दी है.


वैसे भी उत्तरप्रदेश में भाजपा प्रधानमंत्री मोदी के चेहरे को सामने रखकर ही चुनाव लड़ रही है. भाजपा ने किसी को भी अभी तक राज्य के मुख्यमंत्री के तौर पर पेश नहीं किया है. राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य के आरक्षण पर दिये बयान के बाद उत्तरप्रदेश की राजनीति में उबाल आ गया है.

गौरतलब है कि शुक्रवार को जयपुर साहित्य उत्सव में मनमोहन वैद्य ने कहा था, ”आरक्षण का विषय भारत में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लिहाज़ से अलग संदर्भ में आया है. इन्हें लंबे समय तक सुविधाओं से वंचित रखा गया है. भीमराव आंबेडकर ने भी कहा था कि किसी भी क्षेत्र में ऐसे आरक्षण का प्रावधान हमेशा नहीं रह सकता. इसे जल्द से ख़त्म करके समान अवसर देना चाहिए. इसके बजाय शिक्षा और समान अवसर देना चाहिए. इससे समाज में भेद का निर्माण हो रहा है.”

बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने बकायदा संवाददाता सम्मेलन में शनिवार को कहा कि, “बीजेपी ने आरक्षण ख़त्म करने की कोशिश की तो वह राजनीति भूल जायेगी. संविधान और देशहित में आरएसएस को अपनी ग़लत, जातिवादी मानसिकता बदलने की सख्त ज़रूरत है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!