लीची सिंड्रोम से 19 बच्चों की मौत

कोलकाता | एजेंसी: पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में इंसेफ्लाइटिस से मरने वाले बच्चों की संख्या 19 तक पहुंच गई है. एक अधिकारी ने सोमवार को यह जानकारी दी.

मालदा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के उप प्राचार्य सह अधीक्षक अधिकारी एम.ए. रशीद ने आईएएनएस से कहा, “3 से 16 जून के बीच इंसेफ्लाइटिस से कम से कम 19 बच्चों की मौत हो गई है. शनिवार को अंतिम मौत की जानकारी है.”

एमएमसीएच के चिकित्सकों के मुताबिक, दो से चार साल की उम्र के बच्चों की मौत दिमाग में आई सूजन से हुई है.

रशीद ने कहा कि 46 से ज्यादा बच्चे अस्पताल में भर्ती हैं.

बच्चों में अचानक बुखार, ऐंठन जैसे लक्षण दिखाई पड़ने के पांच से छह घंटों के अंदर ही उनकी मौत हो जा रही है.

उन्होंने कहा, “हमने माता-पिता को निर्देश दिया है कि फलों को खाने से पहले उसे अच्छी तरह धो लें.”

प्रारंभिक रपटों के अनुसार, लीची में मौजूद विषाणु के कारण इस तरह के मामले आ रहे थे. स्थानीय स्वास्थ्य कर्मियों ने इस घटना को लीची सिंड्रोम करार दिया था, जबकि विशेषज्ञ इस घटना के लिए जिम्मेदार जीव की जांच कर रहे हैं.

कलकत्ता स्कूल ऑफ ट्रॉपिकल मेडिसीन के विशेषज्ञों का एक दल पिछले सप्ताह प्रभावित क्षेत्र पहुंचकर वहां से नमूनों को इकट्ठा किया था. इसे आगे की जांज के लिए पुणे स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी भेजा गया है.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *