श्रीनगर में 4 लाख से अधिक लोग फंसे

श्रीनगर | एजेंसी: बाढ़ प्रभावित कश्मीर घाटी में अब भी चार लाख से अधिक लोग फंसे हुए हैं. हालांकि, झेलम और इसकी सहायक नदियों का जलस्तर लगातार कम हो रहा है, जिससे थोड़ी राहत मिली है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने गुरुवार को कहा, “झेलम नदी का जलस्तर करीब चार फुट तक कम हुआ है, जो पूरी घाटी के लिए राहत की बात है. लेकिन श्रीनगर शहर में अब भी एक बड़ी चुनौती है, जहां अब भी करीब चार लाख लोग फंसे हुए हैं.”

अधिकारी ने हालांकि यह भी कहा कि डल झील का जलस्तर बढ़ रहा है. दरअसल, झेलम नदी का पानी झील में न घुसने पाए यह सुनिश्चित करने के लिए झील के निकासी द्वार बंद कर दिए गए थे, इसलिए उसका जलस्तर बढ़ गया.


झेलम के तटबंधों में शनिवार और रविवार रात अचानक दरार आने के चलते कई लोग अपनी जान बचाने के लिए सारा सामान घरों में छोड़ बाहर निकल आए थे.

राज्य प्रशासन के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा, “मुझे चर्च लेन इलाके में स्थित अपने सरकारी आवास में ही सब कुछ छोड़कर निकलना पड़ा.”

उधर, मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के सरकारी आवास से महज 200 मीटर दूर रहने वाले राज्य के मुख्य न्यायाधीश एम.एम. कुमार को तीन दिन बाद उनके परिवार सहित सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया.

बाढ़ प्रभावित कई स्थानीय लोगों ने प्रशासन के ढुलमुल रवैये की कड़ी आलोचना की.

यहां के एक स्थानीय परिवहन ऑपरेटर ने कहा, “यदि किसी तरह पेट्रोल और डीजल की सप्लाई फिर से शुरू नहीं की गई तो घाटी में अगले दो दिनों में पूरा सरकारी और निजी परिवहन बंद हो जाएगा.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!