संसद से सड़क तक 84 कोसी यात्रा पर बवाल

नई दिल्ली | एजेंसी: अखिलेश सरकार द्वारा विश्व हिन्दू परिषद को अयोध्या में 84 कोसी परिक्रमा से रोक देने के मुद्दे पर सोमवार को भाजपा ने संसद में हंगामा किया. दूसरी तरफ दिल्ली में समाजवादी पार्टी के कार्यालय में तोड़-फोड़ के खिलाफ सपा सांसदो ने भी संसद में अपना विरोध प्रदर्शन किया. इससे सोेमवार को दोनों सदनों में कार्यवाही चलाने में बाधा आयी.

समाजवादी पार्टी के नरेश अग्रवाल ने सपा कार्यालय में तोड़-फोड़ करने का आरोप भाजपा पर लगाया. अग्रवाल ने कहा, “जिस तरह से पार्टी कार्यालय पर हमला किया गया उससे कुछ भी हो सकता था. दिल्ली पुलिस ने इस मामले में अभी तक एक प्राथमिकी भी दर्ज नहीं की है. भाजपा और कांग्रेस इस पर एक हैं.”


ज्ञात्वय रहे कि श्रीराम का राज्य 84 कोसो (70 एकड़) में फैला था. चतुर्मास में उसी 84 कोसो की परिक्रमा की जाती है. लेकिन अखिलेश सरकार ने रविवार को विश्व हिन्दू परिषद के संरक्षक अशोक सिंघल तथा प्रवीण तोगड़िया को परिक्रमा करने से रोकने के लिये गिरफ्तार कर लिया था. उनके साथ संत नृत्य गोपाल को भी गिरफ्तार किया गया था. उसके पश्चात् रविवार को दिल्ली के कोपरनिकस रोड स्थित समाजवादी पार्यी के केन्द्रीय कार्यालय में तोड़-फोड़ की गई थी.

वहीं विश्व हिन्दू परिषद ने सोमवार को 84 कोसी करिक्रमा न करने देने के विरोध में देशभर में प्रदर्शन किया. समाजवाधी पार्टी के सुप्रीमों मुलायम सिंह यादव ने भाजपा पर आरोप लगाया कि “भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उत्तर प्रदेश में दंगों की साजिश रच रही है. वह कोर्ट के आदेश को भी नहीं मान रही.” लेकसभा में मुलायम सिंह की भाजपा के सांसद योगी आदित्यनाथ के साथ तीखी बहस हुई.

राजनीतिक पर्यवेक्षकों के अनुसार जैसे-जैसे 2014 का आम चुनाव पास आ रहा है संघ परिवार देश में साम्प्रदायिक तनाव बढ़ाना चाहता है. जिससे हिन्दू मतों का धुव्रीकरण भाजपा के पक्ष में हो जाये. सब कुछ एक सोची समझी रणनीति के तहत किया जा रहा है. वैसे भी भाजपा ने नरेन्द्र मोदी को अपना प्रधानमंत्री का प्रत्याशी अनौपचारिक रूप से घोषित कर रखा है.

इस प्रकार 84 कोसी यात्रा को लेकर संसद से सड़क तक बवाल मचा रहा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!